narendra-modi-pm-laughing

पीएम नरेन्द्र मोदी ने संसद में कांग्रेस पर खूब तंज कसे। वे बहुत ही हल्के मूड में दिखायी दिये। ऐसा लग रहा था कि जैसे उनकी निशाने की पूरी तैयारी थी। सबसे मजेदार यह रहा कि उन्होंने कांग्रेस की तुलना मौत से कर दी।

लेकिन पीएम एक बात भूल गये कि मौत स्थायी होती है और जिंदगी नहीं।

पीएम ने कहा कि मृत्यु कभी बदनाम नहीं होती। मौत को वरदान मिला है कि वह बदनाम नहीं होती। उसी तरह कांग्रेस भी बदनाम नहीं होती।

उन्होंने कहा,'जब हम कांग्रेस पर कोई आरोप लगाते हैं तो कहा जाता है कि विपक्ष की आलोचना हुई। कांग्रेस की बदनामी नहीं होती।’

मोदी ने बजट सत्र के अच्छे से चलने पर प्रसन्नता जाहिर की। उन्होंने कहा कि देर रात तक संसद चलने से सबको बोलने का मौका मिलाा।

पीएम ने कांग्रेस पर वार करते हुए कहा कि यदि उन्होंने काम किया होता तो जनधन योजना लाने की आवश्यकता नहीं थी।

अपनी बात को खत्म करते हुए उन्होंने निदा फाजली की गजल भी पढ़ी -'सफर में धूप तो होगी, जो चल सको तो चलो, सभी हैं भीड़ में तुम भी निकल सको तो चलो।’

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम के लिए मोहित सिंह.