jitendra-yadav-samajwadi-amroha

समाजवादी पार्टी में उपेक्षा के शिकार यादव समाज का एक शिष्टमण्डल 15 अप्रैल को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से नौगांवा सादात में भेंट करेगा। यह जानकारी सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष डा. जितेन्द्र यादव ने बताया कि कैबिनेट मंत्री शिवपाल यादव से भी जिले के यादवों का एक शिष्टमण्डल अमरोहा तथा गजरौला दोनों स्थानों पर मिला।

डा. यादव के अनुसार मंत्री जी से आग्रह किया गया था कि जनपद में यादव समुदाय के लोगों को कोई बड़ा पद दिया जाये। यहां का यादव समाज पूरी तरह एकजुट होकर लंबे समय से सपा के साथ है, लेकिन जिले के किसी भी यादव को किसी महत्वपूर्ण पद पर नहीं बैठाया गया। कम से कम एक-दो जिला स्तरीय पद इस बिरादरी को मिलने चाहिए।

जरुर पढ़ें : 'यदि हमने 24 घंटे बिजली दी तो सरकार की वापसी होगी’


डा. यादव ने बताया कि उन्हें मंत्री जी ने आश्वासन तो दिया है। फिर भी 15 अप्रैल को मुख्यमंत्री के आगमन पर बिरादरी का एक शिष्टमण्डल उनसे मिलेगा। डा. यादव का कहना है कि पार्टी में उनके जैसे बिरादरी के कई लोग हैं जो सत्ता के बिना संघर्ष करते हुए पार्टी की सेवा करते आ रहे हैं। उन्हीं के सहारे यहां पार्टी का जनाधार बढ़ा है। इसलिए उन्हें भी उनका अधिकार मिलना चाहिए।

साथ में पढ़ें : महबूब अली ने फिर कराया ताकत का अहसास


गौरतलब है कि डा. जितेन्द्र यादव ने बसपा सकार के दौरान सपा को मजबूती दिलाने का काम किया। उन्हें बाद में पद मुक्तकर दलबदलू तथा दागी नेता विजयपाल सैनी को जिलाध्यक्ष बनाया। पिछले दिनों वे अपनी पत्नि को पंचायत चुनाव में भी नहीं जिता सके। सैनी के स्थान पर किसी यादव को जिलाध्यक्ष बनाया जाये ऐसा यादव बिरादरी चाहती है।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम गजरौला.