Header Ads

UP ELECTION 2017 : एम. चन्द्रा के टिकट पर संशय

m-chandra-vidhayak

समाजवादी पार्टी इस बार यहां से विधायक एम. चन्द्रा का टिकट काट सकती है। मुरादाबाद में पत्रकारों से बात करते हुए कैबिनेट मंत्री शिवपाल यादव ने कहा था कि जहां भी मौजूदा विधायक कमजोर आयेगा, प्रत्याशी बदला जायेगा। पार्टी स्वच्छ छवि का भी ध्यान रखेगी।

जरुर पढ़ें : महबूब अली ने फिर कराया ताकत का अहसास


उल्लखेनीय है कि विधायक एम. चन्द्रा के बेटे कपिल चन्द्रा और भतीजे पर एक महिला से रेप का आरोप लगा था। जिस मामले में विधायक ने पीड़िता की रिपोर्ट तक दर्ज नहीं होने दी थी। बाद में पीड़िता अदालत का दरवाजा खटखटाने को मजबूर हुई थी।

kapil-chandra-m-chandra-son

गजरौला में पकड़े पशु तस्कर को भी छुड़ाने में कपिल चन्द्रा ने पूरे जोर लगाये थे। पीएफए कार्यकर्ताओं ने तस्कर को पकड़वाया था। कई अन्य मामलों के कारण भी विधायक की छवि खराब हुई है।

पार्टी सूत्रों का कहना है कि पूर्व राज्यमंत्री जगराम सिंह का नाम मंडी धनौरा के लिए चलाया जा रहा है। जगराम सिंह पिछले विधानसभा चुनाव में मामूली अंतर से हारे थे।

एम. चन्द्रा का अपना कोई वोट बैंक नहीं, बसपा विरोधी लहर में उनकी नैया अपने आप ही किनारे लग गयी थी। इस बार बसपा के उम्मीदवार डा. संजीव लाल के सामने एम. चन्द्रा बहुत कमजोर हैं।

पढ़ें : शिवपाल ने किया 54 करोड़ के कार्यों का शिलान्यास, महबूब के चुनाव क्षेत्र में 25 करोड़ का तोहफा


लोग चन्द्रा पर जनसंपर्क न करने का भी आरोप लगा रहे हैं। प्राथमिक स्कूलों के बच्चों से विधायक का नाम पूछा जाता है, उनमें से ज्यादातर अशफाक खां या कमाल अख्तर का नाम लेते हैं। क्योंकि ये दोनों नेता क्षेत्र में काफी सक्रिय रहे हैं तथा आपदा राहत के नाम इन्होंने सबसे अधिक राहत राशि वितरित की है या कराई है। गजरौला तथा उसका निकटवर्ती क्षेत्र अपने विधायक के दर्शन तक को भूल चुका है।

मंडी धनौरा की समीक्षा का पता इससे भी लगता है कि लगभग 143 प्रत्याशी घोषित होने के बावजूद अभी धनौरा का उम्मीदवार घोषित नहीं हुआ।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम मंडी धनौरा.