Header Ads

GAJRAULA PALIKA ELECTION 2017 : सामान्य सीट हुई तो राहुल, रोहताश, आशुतोष तथा अनिल होंगे मैदान में

gajraula-palika-election-2017

पूर्व चेयरमेन रोहताश कुमार शर्मा, सभासद डा. आशुतोष भूषण शर्मा और सभासद अनिल कुमार अग्रवाल ऐसे नाम हैं, जो सामान्य सीट होने पर ही मैदान में होंगे, बल्कि यह कहना गलत नहीं होगा कि उस स्थिति में इन तीनों में काफी कड़ा मुकाबला रहेगा।

रोहताश कुमार शर्मा ज्ञान भारती इंटर कालेज की प्रबंध समिति के प्रबंधक तथा बसपा नेता हैं। उनके पिता पं. रामौतार शर्मा, स्व. रमाशंकर कौशिक के साथी रहे हैं। रोहताश शर्मा हरपाल सिंह से पूर्व चेयरमेन रह चुके। वे एक बार फिर चाहते हैं कि चुनाव लड़ें और पालिकाध्यक्ष बनने का सपना पूरा करें। यदि सीट सामान्य रही तो वे चुनाव से पीछे नहीं हटेंगे बल्कि दावा करते हैं कि वे जीतकर दिखायेंगे। पहले वे रालोद उम्मीदवार थे। इस बार वे बसपा उम्मीदवार के रुप में मैदान में होंगे। अपने कार्यकाल में किये विकास कार्यों की गुणवत्ता को वे मौजूदा विकास कार्यों से बेहतर ठहराने के साक्ष्य पेश करते हैं। उनका यह भी कहना है कि पालिकाध्यक्ष के रुप में वे पहले से भी बेहतर काम करके दिखायेंगे।

जरुर पढ़ें : GAJRAULA PALIKA ELECTION 2017 : 'गजरौला विकास की रफ़्तार पकड़े’


डा. आशुतोष भूषण शर्मा यहां के सबसे पुराने और सबसे बड़े चिकित्सक परिवार से हैं। उनके पिता डा. विद्याभूषण शर्मा बहुत सम्मानित चिकित्सक और प्रतिष्ठि शख्सियत हैं। डा. आशुतोष पर उनके संस्कार हावी हैं। वे समाजवादी पार्टी से जुड़े हुए हैं तथा सपा उम्मीदवार की हैसियत से मैदान में उतरेंगे। वे जिस निष्पक्ष तथा समर्पित भाव से अपने मरीजों की चिकित्सा कर रहे हैं, उसी तरह से नगर की समस्याओं का इलाज भी करने में सफल होंगे। डा. शर्मा गजरौला को स्वच्छ, सुव्यवस्थित, प्रगतिशील, सुन्दर और समस्या रहित नगर बनाना चाहते हैं। उन्हें उम्मीद है कि नगरवासी उन्हें यह दायित्व सौंपेंगे।

साथ में पढ़ें : अध्यक्ष पद के दावेदार सूंघने लगे संभावनायें


मेडीकल स्टोर संचालक, नगर पालिका सभासद और कई सामाजिक संगठनों से जुड़े अनिल कुमार अग्रवाल जन समस्याओं के लिए संघर्ष करने वाले प्रमुख व्यक्ति हैं। वे आरएसएस से लंबे समय से संबद्ध हैं। सामान्य सीट पर अध्यक्ष पद के दावेदार हैं। अपने वार्ड में वे स्वयं खड़े होकर काम कराते हैं। बिजली, पानी, गरीबों को राशन आदि के लिए वे भ्रष्टाचारियों से भिड़ने की क्षमता रखते हैं। आगामी चुनाव में पालिकाध्यक्ष के लिए वे तैयार हैं। उनका कहना है कि नगर के विकास के उद्देश्य से वे पालिकाध्यक्ष बनना चाहते है। उनके काम का आकलन सभासद के स्तर से किया जा सकता है। वे कहने के बजाय करके दिखाने पर भरोसा करते हैं।

नगर पंचायत को पालिका परिषद बनवाने वाले सपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य राहुल कौशिक का नाम भी यहां पालिकाध्यक्ष उम्मीदवारों में प्रमुखता के साथ शामिल है। उनके समर्थक चाहते हैं कि गजरौला के सर्वांगीण विकास की दृष्टि से यहां राहुल कौशिक जैसे नेता की जरुतर है। उनके हाथ में पालिका की बागडोर दी जाये तो वे यहां बहुत कुछ करा सकते हैं। उनके सलाहकार विपिन कौशिक का कहना है कि राहुल कौशिक सपा के मजबूत स्तंभ हैं। वे अपने पिता स्व. रमाशंकर कौशिक की तरह नगर के चहुंमुखी विकास के पक्षधर हैं। नगर के लोग चाहते हैं कि एक बार उन्हें पालिकाध्यक्ष बनाया जाये जिससे नगर एक सुविधा संपन्न स्थान बन सके। यह काम कौशिक जी ही कराने में सक्षम हैं। भले ही उनके समर्थक चाहते हों कि राहुल पालिकाध्यक्ष बनें, लेकिन अभी उनकी ओर से इसके लिए कुछ नहीं कहा गया है।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम गजरौला.