Header Ads

तहसील के चक्कर में ब्लॉक से भी गये

nogawan-sadat-tehsil

विधानसभा चुनाव में अब एक साल से भी कम समय बचा है। चार साल से नौगांवा को तहसील बनवाने की कोशिश करने वालों को समझ लेना चाहिए कि अब यह मामला ठंडे बस्ते में चला गया। प्रशासनिक सूत्रों से पता चला है कि लखनऊ में अभी तक इस सिलसिले में कोई प्रगति नहीं है।

जरुर पढ़ें : चार साल से हवा में बन रही तहसील हवा में ही रह गयी


तहसील बनने की नौगांवा अभी पहली शर्त पूरी करने की स्थिति में भी नहीं है। लिहाजा तहसील बनवाने के ख्वाब दिखाने वालों को पहले यहां विकास खंड कार्यालय बनवाना चाहिए। इन चार सालों में यदि वे कदम दर कदम दायरे में काम करते, तो नौगांवा आज तहसील मुख्यालय बन गया होता। यह पहली मंजिल के बिना उसपर दूसरी मंजिल बनाने की तैयारी जैसा है।

सूबे में जहां भी नयी तहसीलें सरकार ने बनवाई हैं, वे पहले से विकास खंड थीं, उन्हें बाद में तहसील बनाया गया। मौलाना आब्दी और अशफाक खां नगर पंचायत को उच्चीकृत कराके तहसील बनाने की नाकाम कोशिश में चार साल से जूझ रहे हैं।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम गजरौला.