Header Ads

थाने में सपाईयों की गुंडागर्दी, दो युवकों को थाने में पीटा, हमले और लूट के आरोपों में जेल भिजवाया

people-beaten-in-police-custody

कार भिड़ने से हुए विवाद और मारपीट के बाद थाने में बंद दो युवकों को थानाध्यक्ष और पुलिस की मौजूदगी में मंत्री के समर्थकों ने हवालात से खींचकर थाने में बुरी तरह पीटा। मारपीट में थाना मंडी धनौरा के एसओ सतेन्द्र कुमार का पूरा सहयोग रहा। जबकि गजरौला एसओ उपेन्द्र सिंह यादव को बवाली सपाईयों ने एक कमरे में बंद कर दिया। पुलिस ने मंत्री महबूब अली के भतीजे इफ्तिखार अली की तहरीर पर चार लोगों के खिलाफ तुरंत मारपीट और लूट का मामला दर्ज कर लिया। जबकि दूसरे पक्ष की कोई सुनवाई न कर पुलिस ने एकतरफा कार्रवाई को अंजाम देने में देर नहीं की। मंगलवार को हुई इस वारदात और मंत्री के दबाव में की गयी एकतरफा कार्रवाई तथा हवालात में सपाईयों द्वारा की मारपीट के खिलाफ पूरे जिले के एक वर्ग में रोष व्याप्त हो गया। गजेन्द्र सिंह और हरवीर सिंह को तभी अदालत में अमरोहा पेश किया गया।

देखें : जाट युवकों की गिरफ़्तारी के खिलाफ़ उमड़े जनसैलाब की तस्वीरें >>


जरुर पढ़ें :  सपा की गुंडागर्दी के खिलाफ जिलेभर के जाट नेता एक मंच पर आये


iftikhar-ali-relative-mehboob-ali
मंत्री महबूब अली के भतीजे इफ्तिखार अली की तहरीर पर चार लोगों के खिलाफ तुरंत मारपीट और लूट का मामला दर्ज कर लिया.

अमरोहा में कलेक्ट्रेट पर जिलेभर के अनेक नेता और ग्रामीण, सपा कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी और पुलिस की मिलीभगत के खिलाफ एकत्र हुए तथा दोषी सपाईयों के खिलाफ रोष जाहिर किया। यहां एसपी डा. एस. चिनप्पा से धनौरा थानाध्यक्ष तथा गजरौला पुलिस की भूमिका की निष्पक्ष जांच की मांग की। मंत्री महबूब अली के भाई भूरे, भतीजे इफ्तिखार अली तथा दो अन्य के खिलाफ कार्रवाई के लिए तहरीर दी।

एसपी से वार्ता के दौरान मौजूद जनप्रतिनिधियों ने शीघ्र ही थाने में मारपीट करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की भी मांग की। एसपी ने दो दिन में जांच कर उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाया।

मौजूद लोगों ने गुरुवार को गजरौला में एक सभा करने का फैसला लिया है। कलेक्ट्रेट से हटकर बड़ी तैयारी में जुट गये हैं।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम गजरौला.