Header Ads

प्रदूषण और बेरोजगारी से तंग युवाओं ने गजरौला के उद्योगों के खिलाफ किया प्रदर्शन

pollution-protest-against-gajraula-factories

प्रदूषण और बेरोजगारी से तंग युवा आंदोलन कर रहे हैं। अमरोहा में कलैक्ट्रेट पर भारी संख्या में युवा एकत्रित हुए और उन्होंने गजरौला के उद्योगों के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए प्रदर्शन किया। उन्होंने जिलाधिकारी के सामने अपनी बात रखी।

जरुर पढ़ें : औद्योगिक इकाईयों के खिलाफ योजनाबद्ध संघर्ष की तैयारी


गजरौला में कई इकाइयां प्रदषण की वजह से चर्चा में रही हैं। जुबिलेंट लाइफ साइंसेज लि., टेवा एपीआई इंडिया लि., इंसिल्को आदि के खिलाफ लंबे समय से आवाज उठती रही है। बीच-बीच में जांच भी हुई, लेकिन नतीजा सिफर निकला।

pollution-protest-against-gajraula-factories1

युवाओं का कहना है कि प्रदूषण की वजह से यहां का पीने का पानी दूषित हो चुका है। उसे पीना रोगों को दावत देने के समान है। यह हर तरह से खतरनाक और जहरीला है। गजरौला और उसके आसपास के इलाके में हवा तो पहले से ही प्रदूषित है।

साथ ही युवाओं ने कहा कि उद्योगों ने उन्हें रोजगार भी मुहैया नहीं कराया जबकि उन्हें ऐसा करना चाहिए था। स्थानीय युवाओं को उद्योगों में नौकरी नहीं दी जाती।

अमरोहा में कलैक्ट्रेट पर प्रदर्शन कर आवाज उठाने वालों में यहां के कई गांवों के युवक मौजूद थे। उनका कहना था कि वे लंबे समय से यह मुहिम चला रहे हैं। आगे भी प्रदूषण और स्थानीय युवकों को रोजगार दिलाने के लिए वे संघर्ष जारी रखेंगे। जल्द ही वे नई रणनीति बनाकर उद्योगों के खिलाफ बड़ा प्रदर्शन करने पर विचार कर रहे हैं।

जिलाधिकारी वेदप्रकाश ने युवाओं को आश्वासन दिया है कि इसकी जांच कर कार्रवाई करेंगे। जल्द समस्या का निवारण करने की कोशिश की जायेगी।

इस दौरान अनुज भाटी, स्वर्णजीत सिंह सहोटा, राजीव कुमार, अनम खान, फैज खान, अरविन्द सिंह, राजेश रघुवंशी, लोकेश कुमार, रुप सिंह, देवेन्द्र सिंह, महेन्द्र सिंह, मोहित चौहान, विनीत कुमार, सुमित कुमार, अंसार अली, राहुल तोमर, सोनू पाशा, अनूप बैसला, जाहिर हुसैन, तनवीर चौधरी आदि मौजूद रहे।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम गजरौला.