Header Ads

गजरौला पालिका में धन बरबादी पर रालोद मुखर

harpal-singh-gajraula-palika

पांच माह पूर्व करोड़ों रुपये की लागत से लोकनिर्माण की भूमि पर नगर पालिका द्वारा अवैध रुप से बनाई इंटर लाकिंग सड़क को उखाड़कर विभाग फिर से सड़क निर्माण करा रहा है। भानपुर फाटक से फाजलपुर फाटक तक नगर पालिका ने यह सड़क बनवाई थी। फिलहाल लोक निर्माण विभाग ने फायर स्टेशन तक उसे उखाड़कर फिर से सड़क बनाने का काम शुरु कर दिया है।

युवा रालोद इकाई समेत नगर के अनेक लोगों ने पालिका द्वारा बर्बाद किये जा रहे धन का हिसाब पालिकाध्यक्ष से मांगा है। साथ ही सवाल किया है कि नगर में विकास को आये धन को अनावश्यक खर्चों में क्यों बरर्बाद किया जा रहा है।

जरुर पढ़ें : सपा नेताओं की परिक्रमा में जुटे गजरौला पालिकाध्यक्ष हरपाल सिंह


उल्लेखनीय है कि लोक निर्माण विभाग की सड़क के मध्य से दोनों ओर एक निश्चित दूरी तक विभाग के अलावा किसी भी अन्य व्यक्ति, विभाग अथवा संस्थान आदि को स्थायी या अस्थाई निर्माण का अधिकार नहीं। इसके विपरीत पांच माह पूर्व लगभग दो करोड़ रुपये का बजट तैयार कर चेयरमेन हरपाल सिंह ने अपने चहेते ठेकेदार को इस सड़क के दोनों तरफ इंटरलॉकिंग का ठेका दे दिया। जिसमें काम शुरु होते ही मोटे कमीशन तथा स्तरहीन कार्य की शिकायतें शुरु हो गयी थीं। जांच करने वाले भी आये और वे भी खुश कर दिये तो बिना कुछ कहे चले गये। लोक निर्माण के संबंधित अधिकारियों ने भी कान तक नहीं हिलाया। अब चौड़ीकरण के नाम पर इंटरलॉकिंग उखड़ रहा है और फिर से सड़क बन रही है।

युवा रालोद के कार्यकर्ता सतीश चौधरी, मुकेश चौधरी, सचिन चौधरी, अर्जुन सिंह, ऋषिपाल सिंह, नमन संधु, हर्ष शर्मा, मनोज शर्मा, शमशाद अहमद, रामौतार सैनी आदि ने इसके खिलाफ आवाज उठायी है।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम गजरौला.