Header Ads

गुजरात में नये मुख्यमंत्री की चर्चा, आनंदीबेन पंजाब की राज्यपाल हो सकती हैं

anandiben-patel-and-modi

खबरें आ रही हैं गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल मुख्यमंत्री पद से हटायी जा सकती हैं। ऐसा माना जा रहा है कि उनकी छुट्टी शीघ्र हो सकती है। उनके स्थान पर गुजरात में स्वास्थ्य और सड़क मंत्री नितिन पटेल को राज्य का अगला मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है।

आनंदीबेन पटेल के साथ नरेन्द्र मोदी की ताजा हाइलेवल मीटिंग कई कयासों को जन्म दे रही है। अगले साल राज्य में विधानसभा के चुनाव भी होने हैं।

माना जा रहा है कि पटेल आंदोलन की वजह से गुजरात में भारतीय जनता पार्टी की हालत कमजोर हुई। पटेल समुदाय उग्र हुआ और हिंसा की आग राज्य में फैली। हार्दिक पटेल का आंदोलन अभी पूरी तरह ठंडा नहीं माना जा सकता। वे कह भी चुके हैं कि भाजपा सरकार को इसका खामियाजा आने वाले चुनावों में देखने को मिलेगा। आनंदीबेन पटेल को तब एक तरह से जीवनदान दे दिया गया था। उनपर विपक्ष द्वारा जमीन घोटाले का भी गंभीर आरोप लगाया गया था।

निकाय चुनावों में भी भाजपा की हालत खस्ता रही थी।

भाजपा चाहती है कि वह गुजरात में नेतृत्व परिवर्तन करे। अमित शाह ने गुजरात में पार्टी की स्थिति का आंकलन करने के लिए ओम माथुर को भेजा। उन्होंने वहां हर चीज को बारीकी से परखा और सियासी हलचलों को करीब से देखा। उसके बाद उन्होंने अपनी रिपोर्ट हाल में अमित शाह को सौंपी थी।

नितिन पटेल का अमित शाह से मिलना और आनंदीबेन पटेल का नरेन्द्र मोदी के साथ हाइलेवल मीटिंग में शामिल होना चर्चा को और गर्म कर रहा है। आनंदीबेन को पंजाब का राज्यपाल बनाये जाने की भी चर्चा जोरों पर है। पंजाब में काफी समय से राज्यपाल का पद खाली है। हरियाणा के राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी वहां का काम देख रहे हैं। आनंदीबेन को सम्मानित पद देने के लिए भाजपा ने मन बना लिया लगता है। सबसे मजेदार बात यह है कि पंजाब में भी गुजरात की तरह अगले साल चुनाव होंगे।

खबर यह है कि नितिन पटेल के मुख्यमंत्री बनने से भाजपा से पटेलों की बेरुखी कम होगी। पार्टी को नयी ताकत मिलेगी जो आने वाले समय में भाजपा को और मजबूत करेगी।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम के लिए एचएस चाहल.