Header Ads

भाकियू (असली) का खामियाजा भुगतेगी भाजपा? बालियान का दौरा जाटों पर बेअसर

sanjeev-balyan-with-hari-dhillon

यहां के विधानसभा उपचुनाव में 11 उम्मीदवार मैदान में हैं लेकिन मुख्य मुकाबला सपा, भाजपा और कांग्रेस में है। बसपा ने अपना उम्मीदवार मैदान में नहीं उतारा। ऐसे में भाजपा अपने को मजबूत मानकर चल रही थी लेकिन लोकसभा चुनाव के बाद केन्द्रीय राज्यमंत्री संजीव बालियान के एक ऊलजलूल बयान से किसानों खासकर जाट समुदाय में भाजपा के खिलाफ बहुत रोष पनप गया था। उपचुनाव की घोषणा के बाद से जाट समुदाय भाजपा के खिलाफ मोरचाबंदी पर जुट गया। इसका लाभ सपा उम्मीदवार को पहुंचने की चिंता से भाजपा हाइकमान को अवगत कराया गया तो संजीव बालियान को बिलारी भेजा गया।

बालियान ने जाट बाहुल्य इलाके में सभा की और जाटों को आश्वस्त करने का प्रयास किया। उन्होंने भरोसा दिलाया कि रालोद तथा भाजपा मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। यह गठबंधन हो चुका, बस घोषणा होनी बाकी है।

बालियान की सभा में बहुत कम जाट आये और उन्होंने भी केवल हां-हूं की औपचारिकता ही पूरी की। बालियान के आने के बावजूद बिलारी के जाटों का गुस्सा ठंडा नहीं हुआ बल्कि वे बालियान के आने से और भी खफा हैं तथा कह रहे हैं कि साईकिल निकले या कमल खिले उनपर कोई फर्क नहीं पड़ने वाला।

अधिकांश जाट फिलहाल भाजपा से दूरी बनाये हुए हैं तथा हो सकता है मतदान में भी वे कम ही भाग लें। कुल मिलाकर इस नाराजगी का भाजपा को नुकसान है। ऐसे में यह चुनाव सपा-भाजपा में बेहद कांटे का हो गया है।

sanjeev-balyan

क्या कहा था बालियान ने?

जब भाजपा नये भूमि अधिग्रहण विधेयक के पक्ष में किसानों में प्रचार कर रही थी तो संजीव बालियान मुरादाबाद मंडल में कई जगह आये थे। बिलारी में उन्हें विधेयक के कारण भारतीय किसान यूनियन असली के कार्यकर्ताओं के भारी विरोध का सामना करना पड़ा, जिसमें भाकियू के प्रमुख हरपाल सिंह से बालियान का वाद-विवाद भी हुआ।

बालियान ने तैश में आकर उन्हें कह दिया कि 'तुम्हारे जैसे मेरा हुक्का भरते हैं।’

तभी से यहां के किसानों खासकर जाट समुदाय में बालियान के खिलाफ बहुत रोष है। इसीलिए वे भाजपा के खिलाफ हो गये हैं। इसी गुस्से को ठंडा करने के लिए बालियान को यहां भेजा गया।

लगता नहीं कि नाराज जाटों में उनके आगमन से कोई बदलाव आया है। कई लोगों का तो यहां तक कहना है कि इससे उनके घाव और हरे हो गये हैं।

चुनाव परिणामों से इसकी पुष्टि हो जायेगी कि बालियान का दौरा भाजपा के लिए कैसा रहा? 

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम बिलारी (मुरादाबाद).