Header Ads

प्रभु की रेल रामभरोसे

suresh-prabhu-railway

दुघर्टना की खबर मिलते ही हापुड़ से रात में ही पुलिस अधीक्षक और अन्य अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गये। घायलों को डिब्बों से निकलवाया। घायलों को अस्पतालों में पहुंचवाया तथा टोल बूथ तीन घंटे के लिए फ्री कर दिया। तमाम लोग सामान और बच्चों सहित नेशनल हाइवे पर पहुंच गये। जहां से उन्हें मुरादाबाद को रवाना कराया गया।

पढ़ें : दिल्ली-फैजाबाद एक्सप्रेस दुघर्टनाग्रस्त, डेढ़ सौ घायल


इस घटना ने रेलवे की गुणवत्ता की पोल खोल दी है। इस घटना से स्पष्ट हो गया है कि रेलवे में सबकुछ ठीक नहीं है। भारतीय रेलें रामभरोसे पटरियों पर दौड़ रही हैं। दावे हाइस्पीड और बुलेट ट्रेन चलाने के हो रहे हैं और ट्रैक साधारण ट्रेनों की रफ़्तार वहन करने की क्षमता भी खो चुके। ट्रेनों के सामान की गुणवत्ता पर भी ध्यान दिया जाता है।

जरुर पढ़ें : गंगा में समाने से बाल-बाल बची ट्रेन

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम गढ़मुक्तेश्वर