Header Ads

बछरायूं में गंदगी से बड़ी आबादी बेचैन

waste-garbage-dirt

बछरायूं तथा उसके आसपास का तमाम इलाका प्रदूषण की गिरफ्त में है। बछरायूं से पूरब के गांव फत्तेहपुर छीतरा, भगवानपुर, सरकड़ा कलां, ढकिया भूड़, सादपुर आदि गांवों के लोगों का कहना है कि बछरायूं में लगी आधुनिक पशु वधशाला के मृत पशुओं के अवशेष और रक्त मिश्रित गोबर का विशाल भंडार गजरौला-धनौरा मार्ग के निकट इकट्ठा किया गया है। जिससे प्रदूषण तथा बदबू से दूर तक के गांवों के लोग परेशान हैं तथा इस मार्ग से पैदल या खुले वाहनों बाइक, ट्रैक्टर अथवा साइकिल से गुजरना मुश्किल हो गया है। आसपास का वातावरण नारकीय होता जा रहा है।

आजकल कुछ किसान भी खेतों को उपजाऊ बनाने के लिए अपने खेतों में इस मलवे को डाल रहे हैं जिससे खेतों के आसपास भी गुजरना मुश्किल होता जा रहा है।

पशु वध के दौरान प्रवाहित रक्त को बोरिंग द्वारा भूमिगत किये जाने की भी खबरे हैं। यदि ऐसा है तो भूगर्भीय जल भी दूषित हो गया होगा। वैसे फैक्ट्री के पास के अधिकांश नलों का पानी अजीब गंध लिये है जो पीने योग्य नहीं है।

आसपास के गांवों के लोगों का कहना है कि उन्हें प्रदूषण से मुक्लि दिलायी जाये। अन्यथा फैक्ट्री के खिलाफ आंदोलन करेंगे।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम मंडी धनौरा.