Header Ads

चेयरमेन के उत्पीड़न से क्षुब्ध सभासद आत्मदाह को मजबूर

anil-agarwal-harpal-singh

अपने वार्ड में विकास कार्य न होने से क्षुब्ध वार्ड-9 के सभासद ने नगर पालिका परिषद कार्यालय के सामने आत्मदाह की घोषणा की है। इस सिलसिले में सभासद अनिल कुमार अग्रवाल ने मुख्यमंत्री को भी पत्र द्वारा सूचना देकर कहा है कि इसके लिए पालिकाध्यक्ष हरपाल सिंह जुम्मेदार होंगे।

मुख्यमंत्री को प्रेषित पत्र में सभासद ने पालिकाध्यक्ष पर शहर में भेदभावपूर्ण ढंग से काम कराने का आरोप लगाया है। पत्र में यह भी आरोप है कि उनसे निजि दुश्मनी मानकर उनके वार्ड के मुहल्ला शिवपुरी, जवाहरनगर, तथा गंगा नगर में काम नहीं कराया जा सका। यहां सड़कों का बुरा हाल है। टूटी-फूटी सड़कों से गुजरने वाले लोग अध्यक्ष के साथ सभासद को भी कोसते हैं। सभासद का कहना है कि चेयरमेन की करतूतों का खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ रहा है। लोगों की शिकायतों के कारण वे मुंह दबाकर एक अपराधी की तरह अपने मुहल्ले से गुजरते हैं।

जरुर पढ़ें : गजरौला पालिका में भ्रष्टाचार के खिलाफ रालोद गरजा


anil-agarwal

पत्र में परेशान सभासद में 13 जून को अपरान्ह 11 बजे पालिकाध्यक्ष कार्यालय के सम्मुख आत्मदाह की घोषणा की है। इसके लिए उन्होंने पूरी तरह हरपाल सिंह पर दायित्व डाला है।

उल्लेखनीय है कि पालिकाध्यक्ष हरपाल सिंह भाजपा नेता हैं तथा सभासद अनिल अग्रवाल भी भाजपा तथा आरएसएस के समर्पित कार्यकर्ता हैं। हरपाल सिंह काफी समय से यहां के भाजपा कार्यकर्ताओं और उससे जुड़े संगठन के कार्यकर्ताओं में फूट डालने और परेशान करने का प्रयास कर रहे हैं। उसी कड़ी में सभासद प्रकरण भी एक है।

इससे पूर्व भी एक सभासद ने पालिकाध्यक्ष के आवास पर आत्मदाह का प्रयास किया था।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम गजरौला.