Header Ads

'पालिका प्रशासन ने समस्या पर गौर नहीं किया'

monsoon-amroha
आजतक जल निकासी पर ठोस काम हुआ ही नहीं. पालिका प्रशासन को बरसात आते ही अमरोहा की समस्यायें याद आती हैं.

अमरोहा में मामूली बरसात बुरा हाल कर देती है। अमरोहा के चेयरमेन अफसर परवेज और उनकी टीम लाख दावे करे लेकिन होता कुछ नहीं। हर किसी को बरसात होने पर सब पता चल जाता कि दावे क्या थे?

अमरोहा में बरसात के समय गुजरना बहुत मुश्किल है। जगह-जगह पानी भरा हुआ मिलेगा और नालों का कीचड़ रास्ते में आ जाता है। यहां रहने वाले लोगों का कहना है कि पालिका प्रशासन ने उनकी समस्याओं पर कभी गौर नहीं किया। यदि ऐसे ही रहा तो शहर को दूसरी जगह बसाया जाना ही एकमात्र विकल्प है।

अमरोहा निवासी समीर अग्रवाल का कहना है कि नगर में समस्यायें बहुत पहले से हैं। जिन मोहल्लों में एक बूंद तालाब का शक्ल लेती है वहां चेयरमेन अफसर परवेज को जल निकासी बगैरह की व्यवस्था करनी चाहिए, लेकिन वे तो आराम फरमा रहे हैं। जनता किसी भी हाल में रहे, उन्हें उससे कोई मतलब नहीं।

जुबैर अहमद ने कहा कि बरसात आने पर ही पालिका को लोगों की याद आती है। बरसात के महीने मानो नर्क की तरह गुजारने पड़ते हैं। नाले चोक हो जाते हैं। हर ओर कीचड़ पसर जाता है। किसी तरह का कोई रोड मैप आदि पर आजतक यहां काम नहीं किया गया। यदि ऐसा होता तो अमरोहा शहर की सूरत बदल जाती।

-अमरोहा न्यूज़.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन करें ...