Header Ads

एसडीएम के गोद लिए गांव में बच्चे अतिकुपोषित मिले

malnutrition
उस समय तो एसडीएम कह गये कि वे जल्द से जल्द समाधान करेंगे और देखेंगे कि समस्या है क्या?

अमरोहा जिले में कुपोषण की हालत देखकर साफ कहा जा सकता है कि सरकार के कारिंदे इसपर कितना ध्यान दे रहे हैं। हालात ये हैं कि जिन गांवों को अफसरों ने गोद लिया है वहां कुपोषण के मामले खूब सामने आ रहे हैं। हसनपुर के गांव सोंहत में एसडीएम अशोक मौर्य के गोद लिए गांव में कुपोषित नहीं, बच्चे अतिकुपोषित मिले। इससे स्पष्ट हो जाता है कि अपने गोद लिए गांवों पर अधिकारियों का कितना ध्यान है?

गांव में एसडीएम की मौजूदगी में जब बच्चों का वजन जांचा गया तो परिणाम चौंकाने वाले आये। एक नहीं, दो नहीं, 11 बच्चे अतिकुपोषित पाये गये। उस समय तो एसडीएम कह गये कि वे जल्द से जल्द समाधान करेंगे और देखेंगे कि समस्या है क्या? उन्होंने संबंधित अधिकारियों को इस मसले पर हिदायत दी। यह कहकर उनका काम पूरा हो गया।

पहले भी डीएम, सीडीओ जैसे जिम्मेदार अधिकारियों के गोद लिए गांवों में कुपोषण का शिकार बच्चे पाये गये थे।

गोद लिए गांवों को गोद तो ले लिया गया लेकिन उनमें हालात क्या हैं, और संबंधित अधिकारी या कर्मचारी ध्यान दे रहे हैं या नहीं, उसकी परवाह किसे नहीं है।

-टाइम्स न्यूज़ हसनपुर.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन करें ...