Header Ads

तिगरी और ब्रजघाट में गंगा खतरे के निशान के करीब पहुंची

ganga-river-tigri
गंगा का जलस्तर खतरे के निशान की ओर लगातार बढ़ता जा रहा है। पहले ही प्रशासन की ओर से अर्ल्ट जारी किया जा चुका है.

गंगा का जलस्तर बढ़ता जा रहा है। पहाड़ों पर हो रही बारिश से यह समस्या उत्पन्न हुई है। हरिद्वार बांध से पानी छोड़ा गया है। साथ ही बिजनौर से भी पानी छोड़ा गया है। इससे गंगा नदी का जलस्तर बढ़ गया है। बाढ़ से निपटने के लिए एनडीआरएफ तैनात कर दी गयी है।

गंगा का जलस्तर खतरे के निशान की ओर लगातार बढ़ता जा रहा है। पहले ही प्रशासन की ओर से अर्ल्ट जारी किया जा चुका है। 200 मीटर तक गंगा पहुंच चुकी है। बिजनौर बैराज से 1 लाख 21 हजार क्यूसेक पानी छोड़े जाने से खतरा और बढ़ गया है। यदि यही हाल रहा तो खतरे का निशान पार हो सकता है।

ब्रजघाट की बात करें तो यहां 199 मीटर के निशान के करीब पानी पहुंच गया। मुख्य स्नान घाट पर पानी पैड़ियों को डुबोता जा रहा है।

अपर जिलाधिकारी महमूद आलम अंसारी का कहना है कि बरसात के कारण गंगा का जलस्तर बढ़ा है। क्षेत्र में बाढ़ का खतरा नहीं है, इसलिए डरने की जरुरत नहीं। बाढ़ चौकियों पर बराबर नजर रखी जा रही है।

ब्रजघाट में एनडीआरएफ की 11वीं बटालियन बनारस की टीम तैनात कर दी गयी है।

तिगरी में खतरे का निशान 202.2 मीटर है जबकि ब्रजघाट में खतरे का निशान 199.34 मीटर है।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन करें ...