ram-mandir-in-gajraula-pic
श्रीमद भागवत कथा का शुभारंभ गजरौला के श्री राम मंदिर में 22 अगस्त को वाराणासी से पधारे पांच वेदपाठी ब्राह्मणों द्वारा किया गया था.

श्रीराम मंदिर परिसर में आयोजित श्रीमद् भागवत कथा का समापन पूर्ण विधि-विधान से हुआ। कथा व्यास डा. चन्द्रकान्त चतुर्वेदी, सेवानिवृत्त प्रोफेसर बीएचयू द्वारा भागवत कथा के द्वारा सन्मार्ग पर चलने के लिए लोगों को प्रेरित किया गया। उन्होंने अपने विचारों से लोगों को अभीभूत किया। भागवत कथा का आयोजन जुबिलेंट लाइफ साइंसेज लि. की ओर से किया गया था।

एक सप्ताह तक चले इस आयोजन में गजरौला के अलावा गढ़मुक्तेश्वर, हापुड़ आदि क्षेत्रों से सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे और कथा का श्रवण किया।

श्रीमद भागवत कथा का शुभारंभ 22 अगस्त को वाराणासी से पधारे पांच वेदपाठी ब्राह्मणों द्वारा किया गया था। नियमित सात दिनों तक प्रातः वेदी पूजन, अपरान्ह रुद्राभिषेक और सायं को श्रीभगवत पूजन किया गया।

जुबिलेंट इकाई के प्रमुख सीबी भारद्वाज ने कहा कि ऐसे आयोजनों का उद्देश्य सदभावना और सन्मार्ग की ओर बढ़ने के लिए किया जाता है। सभी को इसका लाभ मिले इसके लिए मौके-मौके पर ऐसे कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं।

इस दौरान व्यवस्थापक अशोक राय, राधेश्याम सिंह, अमित जोशी, एसके दीक्षित, वरुण कुमार, दिलिप बटवारा, एएन राय, एसबी त्रिपाठी, गंगाराम, अजय गुप्ता, प्रहलाद सिंह, प्रमोद कुमार, सोबरन सिंह, पीके उपाध्याय, केएस भंडारी आदि मौजूद रहे।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...