Header Ads

टोल मुक्त सम्पन्न होगा गंगा मेला

ganga-tigri-mela
सकीना बेगम के जिला पंचायत अध्यक्ष रहते हुए एक बार मेला टैक्स मुक्त किया गया था. बताया जाता है कि मेले के बाद से उसकी वसूली के नोटिस शासन की ओर से भेजे गये हैं.

इस बार गंगा मेला तिगरी टोल टैक्स मुक्त रहेगा। जिला मेला समिति की बैठक में सर्वसम्मति से यह प्रस्ताव पारित किया गया। जिला पंचायत अध्यक्ष ने कहा कि इस बार वे मेले के ठहराव, व्यवस्था और स्नानार्थियों की सुविधाओं को पिछले सभी मेलों से अच्छा बनाना चाहती है ताकि इस बार का मेला एक यादगार बन सके। उन्होंने इसके लिए सभी सदस्यों, मेला प्रशासन और पुलिस अधिकारियों से पूरे सहयोग का आग्रह किया। बैठक में मौजूद अधिकारियों ने उन्हें इसके लिए आश्वस्त भी किया।

रेनू चौधरी के टोल टैक्स हटाने के प्रस्ताव को बैठक में पारित किया गया और उसे कमिश्नर की स्वीकृति के लिए भेजा गया है। उसी के बाद इसे अंतिम रुप दिया जायेगा।

पहले भी टोल मुक्त हुआ है :
सकीना बेगम के जिला पंचायत अध्यक्ष रहते हुए एक बार मेला टैक्स मुक्त किया गया था। बताया जाता है कि मेले के बाद से उसकी वसूली के नोटिस शासन की ओर से भेजे गये हैं। कुछ सदस्यों का कहना है कि तत्कालीन कमिश्नर ने टोल मुक्त निर्णय को स्वीकार नहीं किया था। इसके लिए जिला पंचायत के प्रस्ताव से ही बात नहीं बनती बल्कि शासन स्तर से कानूनी बदलाव के बाद ही ऐसा किया जाना संभव है। अभी गेंद कमिश्नर के पाले में है लेकिन जब मेला आयोजक टोल ठेका देंगे ही नहीं, तो लोगों से वसूली का सवाल ही नहीं उठता।

renu-sakina-news
रेनू चौधरी (जिला पंचायत अध्यक्ष) एवं सकीना बेगम (पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष).

इस बार कई तब्दीलियां की जा रही हैं :
इस बार सबसे अधिक ध्यान स्वच्छता, महिलाओं की सुरक्षा, आधुनिक खाद्य सामग्री वाले ब्रांडेड रेस्टोरेंट सदर रोड पर बसाये जायेंगे। उन्हें किराये के लिए पहले ही जगह आरक्षित कर दी जायेगी। इस बार मोगा वाले, शंभू स्वीट्स, उडप्पी और बीकानेर वाले आदि कई नामचीन मिष्ठान निर्माता यहां पधारेंगे। सदर चौराहे की गोलाई 200 मीटर में होगी।

अध्यक्ष कार्यालय के सामने जिला पंचायत सदस्यों को साठ टेंट का स्थान आरक्षित किया जायेगा। यहीं उनके वाहनों के पार्किंग का स्थान दिया जायेगा। जो लोग गंगा के पास सेक्टर छह में कैम्प के लिए स्थान चाहेंगे। उन्हें शुल्क अदा करना होगा।

गंगा रोड, ट्रैक्टर रोड, सदर रोड और मीना बाजार के लिए 21 से 30 फीट चौड़ा रास्ता बनाया जायेगा। प्रशासनिक अधिकारियों के कैम्प कार्यालयों के लिए भी पिछली बार से अधिक और खुला स्थान मुहैया कराया जायेगा। बैठक में मेला आयोजन के सभी बिन्दुओं पर एक-एक विचार हुआ और आयोजन को निर्विघ्न, सुखद तथा शांतिपूर्ण संपन्न कराने का खाका तैयार किया गया।

गंगा आरती का प्रसारण 10 नवंबर से शुरु :
भले ही मुख्य स्नान 14 नवंबर का है लेकिन मेला दस नवंबर से शुरु होकर 15 नवंबर तक जोरशोर से चलेगा। इसलिए 10 नवंबर से सुबह-शाम सदर सेक्टर के सामने गंगा आरती का प्रसारण 15 नवंबर तक प्रतिदिन होगा।

टोल टैक्स के अलावा दूसरे शुल्क लगेंगे :
पार्किंग शुल्क, दुकानों, खेल तमाशों तथा दूसरे व्यापारिक कार्यों पर तहबाजारी शुल्क पहले की तरह लागू होगा। उन्हें कार्यस्थल के लिए आवंटित भूमि का भी मूल्य देना होगा। टोल टैक्स से मेला पहुंचने वाले सभी वर्गों के लोग मुक्त होंगे।

बैठक में सीडीओ एके सिंह, एसडीएम धनौरा मुहम्मद नईम, सीएमओ संजय कुमार जैन, मेला समिति सदस्य राजीव, सुषमा, खामचन्द, सरिता, महेश, हनीफा, जिला पंचायत सदस्य, राजीव तरारा, भूपेन्द्र सिंह, बीएसए शमीम खानम आदि मौजूद थे।

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...