Header Ads

सेतु निर्माण को नैपाल-संदीप ने कमर कसी

nepal-rana-sandeep-bhadana
युवकों का कहना है कि आजाद भारत में बरबादी के कगार तक पहुंचे दर्जन भर गांवों की आबादी को न्याय दिलाने का हर संभव प्रयास करेंगे। काम पूरा होने तक वे चुप नहीं बैठने वाले.

गंगा के खादर में बरसात में देश से कटकर अलग-थलग पड़ने वाले एक दर्जन गांवों की आबादी की पीड़ा महसूस कर यहां के दो नवयुवक नैपाल सिंह राणा और संदीप भड़ाना नदी पर सेतु निर्माण को कटिबद्ध हो गये हैं। इस  सिलसिले में उन्होंने ऐसे गांवों के लोगों को एकत्र कर नदी तट पर एक सभा की और सेतु निर्माण की रणनीति पर विचार व्यक्त किये साथ ही लोगों से सहयोग बनाने का आग्रह भी किया जिसे लोगों ने हाथ उठाकर पूरा समर्थन देने का संकल्प लिया।

उल्लेखनीय है मंडी धनौरा ब्लॉक के गांव चकनवाला के पास गंगा पोषक नहर गंगा के समानांतर बहती हुई गंगा में गिरती है। यहां पीपा पुल है जिसके सहारे नदी की तरह प्रवाहित पोषक नहर को पार किया जाता है। बरसात में बहने के भय से पुल हटा लिया जाता है। आरपार जाने का साधन खत्म होने से उस पार के दर्जनभर से अधिक गांवों का संपर्क चारों ओर से कट जाता है। एक बड़ी आबादी के ये गांव चारों ओर जल से घिर जाते हैं। नावों के जरिये आपात काल की तरह यहां आवागमन के वैकल्पिक जरिये को पूरी बरसात अपनाया जाता है।

river-bridge-on-ganga-kahadar

यहां स्थायी पुल निर्माण की मांग दशकों से की जाती रही हैं। यहां से चुने जाने वाले सांसद और विधायक चुनाव में पुल बनवाने का वायदा करते हैं लेकिन बाद में सभी भूल जाते हैं। मौजूदा भाजपा सांसद कंवर सिंह तंवर ने तो चुनाव में जीतने के बाद अपने पैसों से पुल बनवाने का वादा किया था। उन्हें भी ढाई साल होने जा रहे हैं लेकिन उन्होंने इधर झांक कर भी नहीं देखा। जबकि चकनवाला को उनहोंने विकास के लिए गोद लिया है।

सभी से निराश यहां के दो पढ़े-लिखे नवयुवकों ने पुल बनवाने को कमर कसी है। वे लोगों को इकट्ठा करके जिला मुख्यालय पर धरना, प्रदर्शन और घेराव कर प्रशासन के सामने बात रखेंगे। लखनऊ जाकर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के सामने भी जनहित की मांग रखेंगे। युवकों का कहना है कि आजाद भारत में बरबादी के कगार तक पहुंचे दर्जन भर गांवों की आबादी को न्याय दिलाने का हर संभव प्रयास करेंगे। काम पूरा होने तक वे चुप नहीं बैठने वाले। वे संघर्ष कर काम पूरा करेंगे।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...