Header Ads

महाराष्ट्र की जनता सड़कों पर, मीडिया खामोश?

maratha-protest-andolan
देश की राजधानी से कई बड़े चैनल अरविन्द केजरीवाल के खांसने पर भी शोर मचाने लगते हैं, लेकिन महाराष्ट्र में हफ्तों से जारी इतने बड़े आंदोलन को कोई स्थान नहीं दिया जा रहा.

महाराष्ट्र में तीन सूत्रीय मांग पत्र को लेकर मराठे आंदोलित हैं। वे एक माह से कई जनपदों में लाखों की संख्या में बार-बार इन मांगों के लिए शांतिपूर्ण बल्कि मौन जुलूस निकाल रहे हैं। बिना शोर शराबे के साथ यह भीड़ अनुशासित रुप में हाथों में बैनर लिये शहरों की सड़कों से गुजरकर सरकार को संवेदनशील होकर अपनी बात सुनने का संकेत दे रही है।

इस भीड़ में मुख्य रुप से देहात और छोटे कस्बों के मराठा किसान और मजदूर हैं। जो अपनी फसलों का वाजिब दाम न मिलने से सबसे अधिक परेशान हैं। इसीलिए वे सरकारी नौकरियों में आरक्षण की मांग कर रहे हैं। इन लोगों का कहना है कि किसानों से लोकसभा चुनाव में भाजपा नेताओं ने जो वायदे किये वे पूरे नहीं किये, विधानसभा चुनाव में उन्होंने किसानों से यह कहकर वोट हासिल कर लिए कि राज्य में भी हमारी सरकार बनवाओ तो वायदे पूरे होंगे। दोनों जगह सरकार बनने के बाद तो किसानों का और भी बुरा हाल है। मराठा किसानों का कहना है कि इस बार प्याज की उपज खेतों में ही जोतनी पड़ी, कोई पूछ ही नहीं रहा। ऐसे में सड़कों पर उतरने के सिवा चारा भी क्या है? लोग आत्महत्यायें करने को मजबूर हैं। सरकार सुनने को तैयार नहीं।

मराठा लोगों की एक मांग एक लड़की से रेप करने वालों को फांसी देने की है। तीसरी मांग एससी-एसटी कानून में संशोधन की है। आंदोलनकारी कहते हैं कि इस कानून का उनके खिलाफ दुरुपयोग होता है। जिसका दलित नाजायज लाभ उठाते हैं। महाराष्ट्र के आंदोलनकारी तीनों मांगों को लेकर लाखों की संख्या में कई सप्ताह से सड़कों पर उतर रहे हैं। लेकिन बेहद शांतिपूर्ण आंदोलन करने वाले इस समुदाय की ओर राज्य सरकार या केन्द्र सरकार बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे रही। मीडिया भी इतने बड़े आंदोलन को कोई महत्व नहीं दे रहा। देश की राजधानी से कई बड़े चैनल अरविन्द केजरीवाल के खांसने पर भी शोर मचाने लगते हैं, लेकिन महाराष्ट्र में हफ्तों से जारी इतने बड़े आंदोलन को कोई स्थान नहीं दिया जा रहा। एक-दो चैनल ही कुछ समय दे पा रहे हैं।

-जी.एस. चाहल.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...