Header Ads

आंधी बरसात से फसल बरबाद, जिला कृषि अधिकारी प्रसन्न

rice-paddy-field-in-amroha
जिला कृषि अधिकारी ने कहा था बारिश से धान आदि को लाभ हुआ है, जबकि इससे धान की फसल को भारी नुकसान हुआ.

आंधी साथ अचानक तेज वर्षा से खेत कुछ समय के लिए पानी से लबालब हो गये। बिना खेतों में जाये या किसानों से मिले ही जिला कृषि अधिकारी चरन सिंह ने अखबारों में बयान प्रकाशित करा दिया कि खेतों में वर्षा के रुप में सोना बरसा है। इससे गन्ना और धान की फसल को लाभी होगा। किसानों का सिंचाई का खर्चा बचेगा। जबकि हालात इसके विपरीत हैं।

वर्षा हुई, अच्छी बात है। पानी की इस समय सभी फसलों को थोड़ी जरुरत भी थी। लेकिन सितम यह हो गया कि वर्षा के साथ तेज आंधी भी चली। इसने लाभ की जगह नुकसान कर दिया। बहुत से किसान तो बरबाद हो जायेंगे। भारी बालियों वाले धान के खेत इससे तहस-नहस हो गये।

अच्छी किस्म के धान के पौधे लंबे होते हैं। वे जमीन पर बिछ गये हैं। दूध पड़ने वाले पौधों में अस्सी फीसदी तक नुकसान हो गया। उनमें दाना ही नहीं बनेगा। बौनी किस्मों में नुकसान नहीं है।

बरसात से पहले बड़ी-बड़ी बालियों के लहलहाते धान के खेतों को देखकर जो किसान खुशी से झूम उठते थे, वे तैयार फसल को धराशायी देखकर सदमे में हैं। इस समय साफ मौसम की दरकार थी। खुले मौसम में धान की फसल ठीक तैयार होकर घर आती।

गन्ने की फसल में भी नुकसान है। पचास फीसदी गन्ना गिर गया। जिसमें भारी नुकसान होगा। वजन घटेगा, चूहे लग जायेंगे। पेड़ी भी अच्छी नहीं होगी। मिल जल्दी नहीं चले तो नुकसान और भी बढ़ेगा। जिला कृषि अधिकारी को खेतों में जाकर सर्वे कर, किसानों को हुई क्षति की सही रिपोर्ट शासन को देनी चाहिए। उनका कार्यस्थल खेत हैं, सरकार इमारत में बना दफ्तर नहीं।

रामपुर में धान और उड़द की फसल को हुआ भारी नुकसान :
अचानक हुई तेज बारिश और हवाओं से यहां धान की फसल को भारी नुकसान हुआ है। साथ ही उड़द की फसल को काफी क्षति बतायी जा रही है। किसानों का कहना है कि बारिश से धान को अधिक नुकसान हुआ है।

देर रात हुई बारिश सुबह तक होती रही। खेतों में पानी भर गया और फसल डूब गयी। किसानों ने कहा कि यह बिना मौसम की बरसात थी। साथ ही यह मूसलाधार होती रही। कई घंटे तक लगातार बरसात होने की वजह से खेत पानी से सराबोर हो गये थे।

धान की फसल तेज हवा और बारिश से खेत में बिछ गयी। जिला कृषि अधिकारी विश्वनाथ का कहना था कि पानी भरने से खेतों में उगा धान खराब हो सकता है।

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा/रामपुर.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...