Header Ads

नोटबंदी के कारण अव्यवस्था, रोष और अफरातफरी

bank-queue-noteban-niteband
अमरोहा जिले में कुछ जगह अव्यवस्था भी फैल रही है. कैश निकालने को लेकर लोग हंगामा भी करने को विवश हो रहे हैं.

नोटबंदी से सरकार भले ही बड़े-बड़े दावे कर रही हो कि आम जनता को परेशानी नहीं होने दी जायेगी, लेकिन समस्यायें और बढ़ती जा रही हैं। अपने ही जमा पैसे निकालने के लिए लोगों को लाइनों में सुबह से शाम तक लगना पड़ रहा है। महिलायें और बुजुर्ग सबसे अधिक दुखी दिखायी दे रहे हैं। जबकि बैंक कर्मचारी कई जगह मनमानी कर रहे हैं और कनैक्टविटी फेल होने या कैश खत्म होने की बात कह कर लोगों को टरका रहे हैं।

अमरोहा जिले में कुछ जगह अव्यवस्था भी फैल रही है। कैश निकालने को लेकर लोग हंगामा भी करने को विवश हो रहे हैं। नौगांवा सादात के खेड़ा अपरौला ग्राम की प्रथमा बैंक में चार दिन से रकम नहीं है। बताया जा रहा है कि अभी कैश नहीं आया है। ग्रामीणों को जब कहीं से पता चला कि शनिवार और रविवार की छुट्टी के बाद बैंक खुला है तो वे भोरकाल में ही बैंक पहुंच गये। लाइन में घंटों इंतजार कर रहे लोगों को जब बाद में बैंक प्रबंधक दिनेश सैनी ने सूचित किया कि कैश नहीं है, तो लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। भीड़ बेकाबू हो गयी और बैंक के अंदर घुसने का प्रयास करने लगी। मामला बिगड़ता देख स्टाफ ने बैंक के भीतर ताला डाल पुलिस को सूचित कर दिया। लोग हंगामा करते रहे और बंद गेट को खोलने का प्रयास करते रहे। बाद में पुलिस ने आकर लोगों को फटकारा।

यह स्थिति एक बैंक की नहीं है। जोया की पीएनबी शाखा में दोपहर तीन बजे कैश खत्म हो गया। लाइन में घंटों से खड़े लोगों को जैसे ही पता लगा तो उन्होंने हंगामा प्रारंभ कर दिया। भीड़ बेकाबू हो गयी और बैंक का चैनल टूट गया। पैसा लेने आये लोग बैंक में घुस गये। इससे बैंक कर्मचारियों में अफरातफरी का माहौल बन गया। उनके हाथ-पांव फूल गये। सूचना पर पुलिस आयी और उसने हंगामा शांत कराया।

डिडौली की सिंडिकेट बैंक में लोगों की उप प्रबंधक आरपी सिंह से जमकर नोकझोंक हुई। लोगों ने बताया कि पांच सौ और हजार के नोट जमा कर लिये मगर बैंक कर्मियों का कहना है कि कैश ही नहीं है। लोगों ने गुस्से में आकर हाइवे जाम करने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने फटकार कर भगा दिया।

लोगों का कहना था कि उनके बच्चों की फीस जमा नहीं हुई। राशन आदि के लिए भी पैसे की जरुरत है। अब वे क्या करें?

हसनपुर के प्रथमा बैंक और केनरा बैंक में भी लोगों ने जमकर हंगामा किया। जिन परिवारों में विवाह हैं वे लोग हाथों में कार्ड लेकर लाइनों में दिख रहे हैं। उन्हें भी कैश खत्म होने के कारण मायूसी हाथ लग रही है।

रहरा में प्रथमा बैंक की शाखा में करेंसी खत्म होने की बात सुनकर लोग भड़क गये। उन्होंने हसनपुर रोड पर जाम लगा दिया। करीब एक घंटे से अधिक जाम की स्थिति बनी रही।

उझारी की सिंडिकेट बैंक के बाहर भीड़ दिखायी दी। बारह बजे तक कैश आने का आश्वासन दिया जाता रहा। घंटों बीतने के बाद भी कैश नहीं आया तो लोगों ने उझारी-सैदनगली रोड जाम कर दिया। दो घंटें तक लोग रोड पर हंगामा करते रहे। पुलिस ने बाद में किसी तरह लोगों को वहां से भगाकर जाम खुलवाया।

लोगों का आरोप है कि बैंकों में जो कैश आ रहा है उसे रसूखदार लोगों में बांट दिया जाता है। जो घंटों लाइन में लग रहे हैं, उन्हें रकम नहीं दी जा रही।

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...