Header Ads

वही एटीएम, वही लंबी कतारें और वही पीएम मोदी की बातें

narendra%2Bmodi%2Bon%2Bdemonetization
मौजूदा स्थिति को देखकर लगता है कि 30 तारीख के बाद भी कुछ अधिक नहीं बदलने वाला.


नोटबंदी की मियाद पूरी होने वाली है। लेकिन मौजूदा हालात को देखकर लगता है कि सरकार 30 दिसंबर के बाद भी पैसा निकालने की सभी पाबंदियों को समाप्त नहीं कर सकती। माना जा रहा है कि सरकार के सामने भी कई मजबूरियां हैं जिनकी वजह से वह पाबंदियां जारी रखेगी।

30 दिसंबर को 500 और 1000 के पुराने नोटों को बदलने की समय सीमा समाप्त हो रही है। पीएम नरेन्द्र मोदी ने स्वयं कहा भी था कि 30 दिसंबर के बाद आम आदमी की मुश्किलें खत्म हो जायेंगी, लेकिन ऐसा नहीं लगता।

सुनने में आ रहा है तथा कई जानकार इसपर अपनी राय रख चुके हैं कि 30 दिसंबर के बाद भी पैसा निकालने पर तमाम पाबंदियां जारी रहेंगी। कारोबार करने वालों के लिए रियायतों की बात सरकार पहले से ही करती आ रही है।

कहा जा रहा है कि नये साल पर कारोबारियों को कोई अच्छी खबर सुनने को मिले। मगर अब तक तो नोटबंदी की वजह से कारोबारियों की जो हालत हुई है, उसे वे अच्छी तरह जानते हैं। खासकर छोटे कारोबारियों का तो मानो दिवाला ही निकल गया। वे अब मियाद खत्म होने का इंतजार कर रहे हैं।


atm%2Bindia%2Bdemonetization

एटीएम से पैसा निकालने में सीमा लगायी हुई है। 30 तारीख के बाद सरकार उसे जारी रख सकती है या कुछ ढील दी जा सकती है। पूरी तरह रकम निकालने की मियाद शायद ही सरकार खत्म करे। यानि 30 दिसंबर के बाद भी आम आदमी की दिक्कतों में कोई बड़ा फर्क नहीं पड़ने वाला।

पीएम नरेन्द्र मोदी ने 2016 के अंतिम 'मन की बात' कार्यक्रम में कहा था कि जनता ने नोटबंदी का समर्थन किया। कालेधन और भ्रष्टाचार पर इससे बड़ी चोट लगी है। बेईमान अब बच नहीं पायेंगे।

पीएम नरेन्द्र मोदी ने नियमों के बार-बार बदलने पर भी सफाई दी। सरकार जैसाकि पहले से ही कहती रही है कि परेशानी कुछ समय के लिए है, मगर बाद में आसानी होगी। पीएम मोदी ने भी 'मन की बात' में वही दोहराया।

लेकिन मौजूदा स्थिति को देखकर लगता है कि 30 तारीख के बाद भी कुछ अधिक नहीं बदलने वाला। वही एटीएम, वहीं लंबी कतारें और वही पीएम मोदी की बातें।

लोग यह भी जानना चाह रहे हैं कि सरकार एक निश्चित तिथि बताये जब वे दिल खोलकर अपना खुद का पैसा निकाल सकेंगे।

जनता तो बहुत कुछ जानना चाह रही है, लेकिन सरकार आश्वासन देने में जुटी है।

-हरमिंदर सिंह.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...