Header Ads

पंजाब विधानसभा चुनाव : भाजपा की करनी बादल भुगतेंगे

prakash%2Bsingh%2Bbadal
नोटबंदी से पूर्व पंजाब में शिरोमणी अकाली दल और भाजपा गठबंधन बढ़त पर था,लेकिन नोटबंदी ने स्थिति बदल दी.

कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का शोर जरुर था लेकिन किसानों के हित में बादल सरकार द्वारा किये कामों से गांवों में अकाली दल के साथ बहुमत दिखायी दे रहा था। कुछ समय से औद्योगिक इकाईयां संकट में थीं जिससे शहरी क्षेत्रों में बादल सरकार के खिलाफ माहौल बन रहा था। 8 नवंबर को नोटबंदी की घोषणा के बाद धीरे-धीरे लोगों में बेचैनी बढ़ती गयी और अब आकर लोग अधिक परेशान हो गये हैं। कृषि उत्पादों के दाम नहीं मिल पा रहे तथा रबी की फसल बुवाई में देरी और उर्वरक तथा मजदूरों और मशीनरी का खर्चा वहन करने की क्षमता खत्म होने से खेती पर बहुत बुरा असर पड़ रहा है। लोगों ने बाजार जाना छोड़ दिया है। जिससे व्यापारी और उद्योगपति भी परेशान हैं। नोटबंदी ने सभी को हिलाकर रख दिया है तथा यह कहना भी कठिन है कि आगे क्या होने वाला है? कृषि मजदूरों के साथ उद्योगों में काम करने वाले मजदूर भी पलायन करने लगे हैं।

इस स्थिति के कारण अकाली दल-भाजपा गठबंधन को पंजाब में गहरा झटका लगा है। जनता के हित में बेहतर काम करने वाली बादल सरकार को केन्द्र की भाजपा सरकार के एक अजीबोगरीब फैसले ने संकट में डाल दिया है। जिसका खामियाजा उसे विधानसभा चुनाव में भुगतना पड़ेगा। हालत यह हो चुकी कि अब अकाली दल के कई नेता पार्टी छोड़ कांग्रेस में जाने लगे। दो विधायक हाल ही में कांग्रेस में शामिल हुए हैं। भाजपा की पंजाब में रीढ़ माने जाने वाले नवजोत सिंह सिद्धू राज्यसभा छोड़ कांग्रेस के चुनाव प्रचार की घोषणा कर चुके। लगता है भाजपा का तो इस बार पंजाब से शायद सफाया ही हो जाये। शहरी क्षेत्रों में आयी मंदी ने उसके समर्थकों को नाराज कर दिया। इसका लाभ कांग्रेस को बिना प्रयास के ही मिल रहा है। उधर 'आप’ भी नोटबंदी का लाभ उठाना चाहती है। लेकिन उसके पास पंजाब में बहुत मजबूत टीम न होने के कारण वह कांग्रेस और अकाली दल से बहुत पिछड़ जायेगी। भाजपा से वह यहां आगे रहेगी तथा एक मजबूत विपक्ष बन सकती है।

चुनाव करीब हैं तथा नकदी संकट से बड़ा नुकसान हो चुका जिसमें निकट भविष्य में सुधार के आसार नहीं। ऐसे में पंजाब में भाजपा की करनी का खामियाजा बादल सरकार को भुगतना पड़ेगा।

-जी.एस. चाहल.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं...