Header Ads

नोटबंदी : अब बैंक नहीं पूछेगा कि यह रकम कहां से आयी

demonetization%2Beffect%2Bbanking
नये नियम के तहत जो पांच हजार की सीमा निर्धारित की थी, उसे वापस लेना पड़ा.


नोटबंदी पर हाल में बनाये नियम पर सरकार ने अपना रुख बदल दिया है। अब केवाईसी वेरिफिकेशन वाले खातों पर 5000 रुपये की सीमा खत्म कर दी गयी है। यह लोगों के लिए राहत की खबर है।

पहले 30 दिसंबर तक केवल एक बार में पांच हजार रुपये से अधिक नकद रकम पुराने नोटों में बैंक में जमा की जा सकती थी। 500 और 1000 के पुराने नोट यदि पांच हजार से कम है तो उसे अलग-अलग समय पर बैंक में जमा करा सकते हैं। यदि बैंक के अधिकारियों को आप संतुष्ट कर पाते हैं कि आपकी यह रकम सही है तो अधिक रकम भी जमा करायी जा सकती है।

भारत में 8 नवंबर को नोटबंदी की घोषणा की गयी थी।

सरकार ने हाल में ही नये नियम के तहत जो पांच हजार की सीमा निर्धारित की थी, उसे वापस लेना पड़ा। अब 30 दिसंबर तक पुराना नियम ही चलेगा यानि 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट पांच हजार से कम या ज्यादा जमा कर सकते हैं।

अब बैंक आपसे यह नहीं पूछेगा कि यह रकम कहां से आयी, आपने यह रकम अब तक क्यों नहीं जमा करवायी, बगैरह-बगैरह।

-गजरौला टाइम्स स्टाफ़.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...