Header Ads

जंग साहब के बाद भी जंग जारी रहेगी क्या?

najeeb%2Bjung%2Blg%2Bresigned
दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग ने इस्तीफा दे दिया है.


नजीब जंग को यूपीए की सरकार के दौरान 2013 में दिल्ली का उपराज्यपाल बनाया गया था। वे दिल्ली सरकार के बीसवें उपराज्यपाल थे।

9 जुलाई 2013 को नजीब पद पर आसीन हुए थे। उनके और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के बीच जंग इतिहास में दर्ज हो गयी है।

नजीब जंग ने दिल्लीवालों के सहयोग के लिए शुक्रिया कहा। साथ ही उन्होंने अरविन्द केजरीवाल का भी आभार व्यक्त किया।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कहा है कि नजीब जंग का इस्तीफा हैरान करने वाला है। उन्होंने नजीब जंग को भविष्य के लिए शुभकामनायें दी हैं।

arvind%2Bkejriwal%2Bmanish

अरविन्द केजरीवाल और जंग के बीच तनातनी आयेदिन चलती रहती थी। केजरीवाल का अकसर आरोप होता था कि दिल्ली के एलजी आम आदमी पार्टी की सरकार नहीं चलने दे रहे।

कामों में अडंगा अड़ाने के पीछे केजरीवाल इसके लिए भाजपा सरकार का उन्हें एजेंट करार देते थे।

माना जा रहा है कि नजीब जंग पर दबाव अधिक था जिसकी वजह से उन्होंने हारकर खुद को उपराज्यपाल के पद से अलग करने का फैसला कर लिया था। यह फैसला शायद बहुत पहले हो चुका था।

चर्चाओं का बाजार गर्म जरुर है, लेकिन असली वजह का सभी को इंतजार है।

आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास ने कहा कि जंगे भले आदमी हैं। वे केन्द्र सरकार के साथ फंस गये थे। उनका हमारी सरकार के साथ कई मुद्दों पर मतभेद रहा।

कपिल मिश्रा ने नजीब जंग को भविष्य के लिए शुभकामनायें देते हुए कहा कि कठपुतली की डोर जिसके हाथ में है, उन्हें भी ईश्वर सद्बुद्धि दे। जंग साहब के बाद भी जंग जारी रहेगी क्या?

कपिल मिश्रा का यह कहना अपने में काफी मायने रखता है। चूंकि केन्द्र की सरकार भाजपा है और आम आदमी पार्टी और उनका टकराव रहा है। दिल्ली में अडंगा अड़ाने का केजरीवाल जितना दोषी नजीब जंग को मानते थे, उतना ही दोषी वे पीएम नरेन्द्र मोदी को मानते हैं।

इसका मतलब यह कि जो भी नया एलजी होगा, जंग जारी रहेगी?

-गजरौला टाइम्स स्टाफ.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...