Header Ads

उठापटक के बाद चार उम्मीदवार मैदान में, भाजपा-बसपा में कड़ा मुकाबला

राजीव-तरारा-संजीव-लाल
मंडी धनौरा विधानसभा सीट पर चतुष्कोणीय मुकाबले में सपा-रालोद पीछे.


सपा विधायक एम. चन्द्रा ने राजनीति से सन्यास की घोषणा कर दी। उन्हें इस बार पार्टी ने उम्मीदवार बनाने लायक भी नहीं समझा। वैसे वे अपने बेटे कपिल चन्द्रा के लिए टिकट मांग रहे थे। टिकट न मिलने से नाराज कपिल चन्द्रा ने सपा छोड़ रालोद का दामन थाम लिया। रालोद ने उन्हें यहां से अपना उम्मीदवार बनाया है। 2012 में यहां से जगराम सिंह रालोद उम्मीदवार थे। जो तीसरे स्थान पर रहे थे। उन्हें इस बार सपा ने मैदान में उतारा है।

भाजपा ने भी 2012 में चौथे स्थान पर रहे हरपाल सिंह की जगह जिला पंचायत सदस्य राजीव तरारा को उम्मीदवार बनाया है। कांग्रेस ने यहां से अभी उम्मीदवार खड़ा नहीं किया। अनुमान लगाया जा रहा है कि सपा-कांग्रेस गठबंधन के कारण यह सीट कांग्रेस के पाले में जा सकती हैं, इसलिए जगराम सिंह का नाम भी वापस हो सकता है।

कपिल-चन्द्रा

फिलहाल यहां बसपा के डा. संजीव लाल, भाजपा के राजीव तरारा रालोद के कपिल चन्द्रा तथा सपा के जगराम सिंह मैदान में हैं। भले ही चार महत्वपूर्ण दलों से चार उम्मीदवार मैदान में हैं लेकिन यहां बसपा और भाजपा उम्मीदवार ही अधिक मजबूत हैं। इसके ठोस कारण हैं। इन दोनों दलों के उम्मीदवारों का जनसंपर्क और जनता से जुड़ाव काफी मजबूत है। दोनों ही लंबे समय से गांवों में घर-घर तक पहुंच बना चुके हैं। लोग इन्हें अच्छे तरह समझ चुके तथा अधिकांश मतदाता इन दोनों में से किसी एक को चुनाव चाहते हैं। यह इन दोनों की चुनावी रणनीति पर निर्भर करेगा कि कौन बहुमत पाने में सफल होता है।

जगराम-सिंह

जगराम सिंह बाहरी नेता माने जाते हैं। वे 2012 का चुनाव बुरी तरह हारने के बाद पांच साल के बाद इधर दिखाई दिये हैं। वह भी दलबदल कर उसमें अभी संदेह है कि यह सीट गठबंधन के किस घटक को मिलेगी? कपिल चन्द्रा युवा हैं, लेकिन इस सीट पर रालोद का कोई वोट बैंक नहीं। चन्द्रा की अपनी बिरादरी के भी बहुत कम वोट हैं। गत चुनाव में एम. चन्द्रा सपा लहर की अपनी बाहुल्य के भी बहुत कम वोट हैं। गत चुनाव में एम. चन्द्रा सपा लहर में मुस्लिम बाहुल्य सीट पर बिना जनसंपर्क ही जीत गये थे। इस बार ऐसा सोचना भी अंधेरे में घूमने के बराबर हैं। अभी कई और उम्मीदवार भी सामने आयेंगे। जिससे चुनावी समीकरण प्रभावित होना स्वाभाविक है।

-टाइम्स न्यूज़ मंडी धनौरा.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...