Header Ads

लापता केशपाल मामले की गुत्थी नहीं सुलझी, एलआइयू और आइबी भी सुराग लगाने में सक्रिय

keshpal-singh-malaysia
अमरोहा जिले के केशपाल सिंह का दो हफ़्तों बाद भी कोई सुराग नहीं लग पा रहा.


मलेशिया में लापता नगलिया जट निवासी केशपाल सिंह भुल्लर का पता लगाने के लिए जरुरी संकेतों पर अमरोहा जिले का खुफिया तंत्र सक्रिय हो गया है। शुक्रवार में आइबी और एलआइयू के सूत्रों ने भुल्लर के परिजनों से मुलाकात कर विदेश जाने से लापता होने तथा अंतिम बार फोन पर वार्ता तक की जानकारी हासिल की है।

रजबपुर थाना क्षेत्र के नगलिया जट निवासी केशपाल मलेशिया की एक कंपनी में काफी समय से सेवारत हैं। जहां से वे 31 दिसंबर से लापता हो गये। इसके बाद से उनसे किसी भी तरह का संपर्क किसी भी परिचित या परिजन का नहीं हो पा रहा। उनकी पत्नि, बेटा तथा कई रिश्तेदार उनका सुराग लगाने को विदेश मंत्रालय, मलेशिया दूतावास, कई मंत्रियों तक से गुहार लगा चुके तथा आवश्यक कार्यवाही भी कर चुके लेकिन भुल्लर का पता नहीं चल पा रहा।

keshpal-singh-bhullar-gajraula
केशपाल की पत्नि, बेटा तथा कई रिश्तेदार उनका सुराग लगाने को विदेश मंत्रालय, मलेशिया दूतावास, कई मंत्रियों तक से गुहार लगा चुके तथा आवश्यक कार्यवाही भी कर चुके लेकिन उनका पता नहीं चल पा रहा.

हफ्तों से दिल्ली में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, कृषि मंत्री एसएस अहलूवालिया और कई प्रभावशाली केन्द्रीय नेताओं से गुहार लगाने के बावजूद केशपाल सिंह की पत्नि और बेटे को अभी कोई सफलता नहीं मिली। उन्हें आवश्वासन हर स्थान से मिल रहा है।

केशपाल के बेटे योगेन्द्र भुल्लर ने कुछ किसानों के साथ भारतीय किसान यूनियन नेता राकेश टिकैत से भी संपर्क साधा है। टिकैत के माध्यम से केन्द्रीय मंत्री संजीव बालियान से भी इस विषय पर बात हुई है। बालियान ने इसमें मदद दिलाने का आश्वासन ही दिया है। उनकी मंशा उनसे बात करने पर पता चलेगी।

दूसरी ओर सुषमा स्वराज ने रिट्वीट कर केशपाल के बेटे और पत्नि से मलेशिया दूतावास से संपर्क साधने को कहा है। केशपाल की गुमशुदगी से उनके परिजन तथा परिचित परेशान हैं। केशपाल के रुम पार्टनर तथा मलेशिया में सेवारत उनके परिचित भी अपने स्तर से पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं। पुलिस में भी गुमशुदगी दर्ज करायी गयी है लेकिन दो सप्ताह बाद भी केशपाल के बारे में कोई सुराग नहीं लग पा रहा। इसके पीछे की वजह का भी पता नहीं चल पा रहा। वैसे घरवालों ने इसमें उनके अपहरण से भी इंकार नहीं किया।

-टाइम्स न्यूज गजरौला.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...