Header Ads

कूड़े के ढेर में तब्दील गजरौला के कई मोहल्ले

कूड़े-के-ढेर-में-तब्दील-गजरौला
गजरौला में जगह-जगह कूड़े और गन्दगी के ढ़ेर सजे हुए हैं.


नगर पालिका के कई मोहल्ले गंदगी से बेहाल हैं। इन स्थानों पर लोग अपने घरों का कूड़ा-कचरा फेंकते हैं। जबकि कई सफाई कर्मचारी भी नियत स्थान तक कूड़ा ले जाने से बचने के बजाय ऐसे खाली पड़े स्थानों पर गंदगी फेंक जाते हैं।

अवंतिका नगर मोहल्ले के लोगों का आरोप है कि सफाई कर्मचारी उनके मोहल्ले का कचरा उठाकर ललिता देवी मंदिर के पास के कुछ घरों के निकट खाली पड़े प्लाटों में डालकर गंदगी उत्पन्न कर रहे हैं।

इधर फाजलपुर बिजलीघर में भी कूड़े और कचरे के ढेर लगे हैं। कई पशुपालक पशुओं के गोबर और कूड़े को बिजलीघर में फेंक रहे हैं। वहां कूड़े के बड़े ढेर लगे हैं। वहां सहायक अभियंता और अधिशासी अभियंता का भी कार्यालय है। उनकी आंखों के सामने लोग कूड़ा फेंकते हैं। न तो उन्हें कूड़े के ऊंचे-ऊंचे ढेरों और न ही उसके पास मलमूत्र की गंदगी दिखाई देती है।

इसी तरह होटल वसंत तथा होटल स्वागत के आसपास रेलवे लाइन के पास भानपुर फाटक तक गंदगी का साम्राज्य है। जिसकी ओर पालिका परिषद और रेलवे का भी ध्यान नहीं।

अहरौला मार्ग पर पूर्व चेयरमेन रोहताश शर्मा ने लगभग एक एकड़ भूमि कूड़ा डालने के लिए अपने कार्यकाल में खरीदवायी थी। लंबे चौड़े क्षेत्र का कचरा वहां तक नहीं पहुंचाया जाता। बहाना बनाया जाता है कि वह दूर है। एक ट्रंच ग्राउंड और बनाया जायेगा जिसके लिए जमीन खरीदी जायेगी।

मोहल्ले-को-कूड़ा-घर-बना-दिया




"मोहल्ले को कूड़ा घर बना दिया" -सचित शर्मा

अवंतिका नगर के सचित शर्मा का कहना है कि उनके मोहल्ले का तमाम कूड़ा एकत्र कर सफाई कर्मचारी उनके घर के पास खाली प्लाट में डालकर आग लगा देते हैं। जिससे उनके घरों तक में धुंआ भर जाता है। इससे सारा कूड़ा-कचरा जलता भी नहीं।

अवशेष को सूअर और आवारा कुत्ते फरोलते रहते हैं जिससे गंदगी फैलती है। सफाई कर्मचारियों से मना करते हैं तो मानते नहीं। कहते हैं -तुम्हारी जगह में कूड़ा थोड़े ही डाल रहे हैं।

सचित शर्मा ने पालिकाध्यक्ष से मांग की है कि उनके मोहल्ले की सफाई व्यवस्था सुचारु करायें।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...