Header Ads

पालिका में करोड़ों के घोटाले के खिलाफ सभासद का धरना

चौदह साल से डटे इ.ओ. को हटाकर जांच की मांग, डीएम से मिलेंगे अनिल अग्रवाल.

नगर पंचायत और पालिका परिषद में निर्माण कार्यों और दूसरे कार्यों में हुए करोड़ों के घोटालों के खिलाफ वार्ड सभासद अनिल अग्रवाल ने पालिका परिषद के कार्यालय पर धरना दिया तथा पालिकाध्यक्ष और इ.ओ. की भूमिका जांच की मांग की। अग्रवाल बुधवार को डीएम को इस संबंध में लिखित शिकायत पत्र भी देने जा रहे हैं जिसकी प्रतियां उन्होंने धरने के दौरान मौजूद पत्रकारों को दीं।

सभासद-अनिल-अग्रवाल
जरुर पढ़ें : गजरौला वासियों की सेवा का एक मौका चाहते हैं अनिल अग्रवाल 

सभासद अनिल अग्रवाल का आरोप है कि चेयरमेन हरपाल सिंह और इ.ओ. कामिल पाशा ने मिलकर सदुल्लापुर रोड के निकट स्थित 14 बीघा तालाब को भू-माफियाओं को बेच दिया। जिसमें से 300 मीटर की रजिस्ट्री चेयरमेन ने अपनी पत्नि राजेन्द्री देवी के नाम भी की है। तालाब की भूमि से इ.ओ. तथा चेयरमेन ने करोड़ों की अवैध कमायी की है।

सभासद के मुताबिक बूढ़े बाबू के तालाब के सौन्दर्यीयकरण के नाम पर एक करोड़ 27 लाख का टेंडर हुआ जहां मुश्किल से दो लाख का नाम भी नहीं हुआ। यहां भी एक करोड़ से अधिक का घोटाला हुआ है। यह काम चेयरमेन के भतीजे विपिन सागर ने कराया है।

पत्रकारों को सौंपे पत्र में सभासद ने शमशान घाट के नाम पर भी इसी तरह के घोटाले का जिक्र किया है। यहां वार्ड नं.1 में अहरौला तेजवान रोड ने किनारे शमशान घाट के लिए काम दिखाया गया है। सभासद के अनुसार अधिक से अधिक दस लाख खर्च हुए हैं जबकि 1 करोड़ 47 लाख का खर्च दिखाया गया है।

हरपाल-सिंह-कामिल-पाशा-गजरौला

सभासद ने बिजली यंत्रों तथा स्ट्रीट लाइट में भी भारी घोटाले का आरोप मंढा है। नकली और घटिया सामान सस्ते में खरीदकर कई गुना दाम के बिल लगाकर करोड़ों की हेराफेरी का आरोप चेयरमेन, इ.ओ. तथा उनके विश्वस्त बाबू पर लगाया गया है।

अल्लीपुर के 32 बीघा तालाब की भूमि से 10 बीघा पर असरदार लोगों का अवैध कब्जा चेयरमेन और इ.ओ. ने मिलकर करा दिया है। सभासद का कहना है कि पालिका की करोड़ों की संपत्ति को चेयरमेन तथा इ.ओ. ने निजि स्वार्थ में अवैध रुप से बेच दिया है। वे डीएम से मिलकर जल्दी ही इसकी जांच करायेंगे।

सभासद अनिल अग्रवाल ने पालिका कार्यालय में पालिका में व्याप्त भ्रष्टाचार का आरोप लगाकर जब इ.ओ. और चेयरमेन पर निशाना साधा तो वहां मौजूद इ.ओ. मो. कामिल पाशा वहां से खिसक लिए। सभासद ने वहां धरना जारी रखा तथा कथित भ्रष्टाचार और घोटालों से संबंधित कागजात पत्रकारों को सौंपे। उन्होंने कहा कि वे डीएम के दरबार में एक बार यह प्रकरण ले जायेंगे बुधवार तक इंतजार करें। उन्हें उम्मीद है डीएम इस प्रकरण को गंभीरता से लेंगी। उन्होंने यह भी बताया कि जांच से पूर्व यहां चौदह वर्षों से अंगद के पैर बने इ.ओ. के स्थानांतरण की मांग भी डीएम से करेंगे।

जरुर पढ़ें : दूसरी सफल पारी की तैयारी में रोहताश 

साथ में पढ़ें : विरासत में मिली जनसेवा को विस्तार देना चाहते हैं डा. आशुतोष

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...