Header Ads

नरेन्द्र मोदी को क्यों कहना पड़ा कि गधा अपने मालिक का वफादार होता है?

'गधा बीमार हो, भूखा हो, थका हो लेकिन मालिक का दिया काम पूरा करके रहता है'

यूपी की राजनीति में अब गधा चर्चित होता जा रहा है। अखिलेश यादव के गधे वाले बयान पर पीएम मोदी ने पलटवार किया। उन्होंने गधे की वफादारी की चर्चा की। उन्होंने कहा कि गधा अपने मालिक का वफादार होता है। गधा कितना ही बीमार हो, भूखा हो, थका हो लेकिन अगर मालिक उससे काम लेता है तो सहन करता हुआ भी अपने मालिक का दिया काम पूरा करके रहता है। सवा सौ करोड़ देशवासी मेरे मालिक हैं। वो मुझसे कितना काम लेते हैं, मैं करता हूं, थक जाऊं तो भी करता हूं क्योंकि मैं गधे से गर्व के साथ प्रेरणा लेता हूं।

पीएम-नरेन्द्र-मोदी
जरुर पढ़ें : गुजरात के गधों के जरिये अखिलेश ने मोदी पर ली चुटकी

पीएम नरेन्द्र मोदी ने कहा कि अखिलेश को गुजरात के गधों से इतनी नफरत है, लेकिन यह वही गुजरात है, जिसने महात्मा गांधी, वल्लभ भाई पटेल, दयानन्द सरस्वती को जन्म दिया। यह नफरत का भाव आपको शोभा नहीं देता है।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 20 फरवरी को रायबरेली में एक चुनावी सभा के दौरान गुजरात पर्यटन विभाग के एक विज्ञापन पर चुटकी ली थी। उन्होंने अमिताभ बच्चन और पीएम मोदी को घेरने की कोशिश की थी।


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...