Header Ads

किसकी होली होगी रंगीन और किसकी फीकी?

जैसे-जैसे मतगणना का समय करीब आता जा रहा है लोगों में उत्सुकता बढ़ती जा रही है.

यूपी विधानसभा चुनाव के पांच चरण पूरे हो गये हैं। अब केवल दो चरण बाकी हैं। आखिरी चरण की तिथि 8 मार्च है। परिणाम 11 मार्च को आयेंगे। जैसे-जैसे मतगणना का समय करीब आता जा रहा है लोगों में उत्सुकता बढ़ती जा रही है। उधर उम्मीदवारों और उनके समर्थकों की धड़कनें भी बढ़ती जा रही हैं। हर किसी को मतगणना का बेसब्री से इंतजार है। 

अमरोहा जिले में विधानसभा की चार सीटें हैं :
1. अमरोहा विधानसभा सीट
2. धनौरा विधानसभा सीट
3. हसनपुर विधानसभा सीट
4. नौगांवा सादात विधानसभा सीट.

इन चार सीटों से कुल 40 उम्मीदवार मैदान में थे। सबसे कम उम्मीदवार धनौरा सीट से थे। उनकी संख्या केवल चार थी जिनमें सपा, भाजपा, बसपा और रालोद के उम्मीदवार शामिल थे। यहां का फैसला अधिक रोचक होगा क्योंकि वोट चार उम्मीदवारों में विभाजित होंगे। यह भी माना जा रहा है कि यहां टक्कर जबरदस्त होगी। हार-जीत का फासला भी मायने रखेगा। पिछली बार धनौरा सीट पर सपा के माइकल चन्द्रा विजयी हुए थे। उन्होंने बसपा उम्मीदवार हेम सिंह आर्य को पराजित किया था।

यूपी-विधानसभा-चुनाव

धनौरा सीट पर इस बार चार उम्मीदवार प्रमुख दलों से हैं। राजीव तरारा(भाजपा), डा. संजीव लाल(बसपा), जगराम सिंह(सपा) और कपिल चन्द्रा(रालोद) से हैं। उधर अमरोहा सीट पर महबूब अली, नौशाद अली, डा. केएस सैनी आदि उम्मीदवार परिणाम का इंतजार कर रहे हैं। हसनपुर से कमाल अख्तर, गंगासरन खड़गवंशी, महेन्द्र खड़गवंशी आदि का भाग्य ईवीएम की कैद से बाहर जल्द आ जायेगा। नौगांवा सादात में चेतन चौहान, जावेद आब्दी, सोरन सिंह सरीखे उम्मीदवार अपनी-अपनी जीत मानकर चल रहे हैं।

मार्च में होली किसकी रंगीन होती है और किसकी फीकी यह तो परिणाम ही बतायेंगे, मगर अबीर-गुलाल की उड़ाने की तैयारी उनके समर्थकों ने कर ली है। 11 मार्च अब करीब ही आ गयी है।

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...