Header Ads

बछरायूं की पशु वधशाला जल्द बंद नहीं की गयी तो किसान जड़ देंगे ताला

बछरायूं की पशु वधशाला को लेकर भारतीय किसान यूनियन काफी उग्र हो रही है.

सूबे में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनते ही लोगों ने पार्टी के संकल्प पत्र में किये संकल्प पूरे करने की मांग शुरु कर दी है। इसी सिलसिले में भारतीय किसान यूनियन कार्यकर्ताओं ने बछरायूं में स्थापित यांत्रिक पशु-वधशाला बंद कराने की मांग करते हुए हाल में प्रदर्शन किया था।

बछरायूं की पशु वधशाला जल्द बंद नहीं की गयी तो किसान जड़ देंगे ताला
भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चौ. विजयपाल सिंह (फाइल फोटो ).

फत्तेहपुर छीतरा स्थित किसान भवन पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चौ. विजयपाल सिंह के नेतृत्व में किसानों की एक पंचायत हुई थी जिसमें विजयपाल सिंह ने कहा कि बछरायूं में चल रही यांत्रिक वधशाला के कारण बड़े पैमाने पर दुधारु पशुओं का वध हो रहा है। इससे जहां पशु चोरी की घटनायें बढ़ी हैं वहीं प्रदूषण से लोगों का जीवन नारकीय होता जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा के संकल्प पत्र में इस तरह के कसाईखाने बंद करने का वादा किया गया है। उन्होंने मांग की है कि बछरायूं के इस कत्लखाने को तुरंत बंद कराया जाये। पंचायत में कई गांवों के किसान थे।

उधर विधायक राजीव तरारा ने भी लखनऊ में कैबिनेट बैठक के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने इस समस्या को रखने की बात की तथा हर हाल में इसमें ताला जड़वाने का संकल्प दोहराया है।

उल्लेखनीय है कि इस कट्टीघर को बंद कराने की मांग कई बार उठी है लेकिन राजनीतिक दबाव में किसानों की सुनवाई नहीं हुई। सत्ता परिवर्तन के फौरन बाद किसानों ने एक बार फिर यह मुद्दा उठाया है।

भाकियू नेता चौ. विजयपाल सिंह ने चेतावनी देते हुए प्रशासन से कहा कि किसान फैक्ट्री बंद करने और वहां से गंदगी हटाने के लिए 15 दिन का समय देते हैं। इस समयावधि में फैक्ट्री बंद नहीं की गयी तो किसान एकजुट होकर फैक्ट्री पर ताला जड़ देंगे। इसके लिए किसानों से संपर्क कर भीड़ जुटाई जायेगी।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...