लोगों के घरों में रखा सामान और लाखों रुपये की नकदी भी आग ने स्वाह कर दी.

हसनपुर के गांव सतेड़ा की मढ़ैया में आग से करीब 60 घर जलकर राख हो गये। पल भर में ही लोगों का आशियाना उजड़ गया। चूल्हे की एक मामूली चिंगारी ने पूरा गांव जलाकर राख कर दिया। सबसे दुखद यह रहा कि आग में 25 पशु जलकर कर मर गये। यहां तक की ट्रैक्टर-ट्राली और 20 इंजन सेट भी आग की भेंट चढ़ गये। लोगों के घरों में रखा सामान और लाखों रुपये की नकदी भी आग ने लील ली। गांव में अधिकतर घर छप्पर आदि से बने हुए थे। दुखद यह भी रहा कि दमकल गांव तक पहुंच नहीं पायी क्योंकि गांव गंगा के पार था और वहां आनेजाने के लिए रास्ते का ऐसा कोई प्रबंध नहीं है। दमकल को ब्रजघाट की ओर से गांव पहुंचना पड़ा। देर से पहुंचने के कारण गांव जल चुका था।

हसनपुर में आग से गांव जला, कई पशु भी जिंदा जले

लोगों के सिर से छत तो गायब हो ही गयी है, उनके सामने खाने-पीने की समस्या भी आन पड़ी है। घरों में रखा राशन आदि सब जलकर खाक हो गया। ग्रामीणों का कहना था कि ऐसा हादसा पहले नहीं हुआ। उन्हें संभलने का मौका नहीं मिला और आग से एक-एक कर घर जलते चले गये।

विधायक महेन्द्र सिंह खड़वगंशी ने कहा है कि पीड़ितों को सरकार से मुआवजा दिया जायेगा।

-टाइम्स न्यूज़ हसनपुर.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...