Header Ads

मुरादाबाद के परिवार को बीफ की अनुमति नहीं मिली, लेकिन चिकन परोस सकते हैं

अवैध बूचड़खानों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है इसलिए वे केवल चिकन से काम चला सकते हैं.
मुरादाबाद के परिवार को बीफ की अनुमति नहीं मिली

उत्तर प्रदेश में अवैध बूचड़खानों पर योगी आदित्यनाथ के डंडे के बाद प्रदेश में मीट कारोबारी हड़ताल पर चले गये हैं। यह हड़ताल अनिश्चिकालीन के लिए बतायी जा रही है। इससे जहां करोड़ों का कारोबार प्रभावित हुआ है वहीं लोगों के सामने रोजगार का संकट भी खड़ा हो गया है। खबरें आ रही हैं कि शादी-ब्याह में शाकाहार पर बढ़ावा दिया जा रहा है। वहीं मुरादाबाद में एक परिवार ने पुलिस से बीफ खाने की अनुमति तक मांग डाली। हालांकि पुलिस ने उन्हें अनुमति देने से इंकार कर दिया, लेकिन चिकन की अनुमति प्रदान कर दी गयी है।

मुरादाबाद में सरफराज की लड़की के वैवाहिक कार्यक्रम में बीफ परोसे जाने की

दरअसल मुरादाबाद में सरफराज की लड़की के वैवाहिक कार्यक्रम में बीफ परोसे जाने की उन्होंने पुलिस से लिखित में अनुमति मांगी थी। शहर के बूचड़खानें बंद हो रहे हैं और मीट कारोबारी हड़ताल पर चल रहे हैं। परिवार का कहना है कि पुलिस ने उन्हें अनुमति नहीं दी है। कहा है कि अवैध बूचड़खानों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है इसलिए वे केवल चिकन से काम चला सकते हैं।

योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद मुरादाबाद मंडल में अवैध बूचड़खाने बंद कर दिये गये हैं। मीट कारोबारी इसके विरोध में हड़ताल पर हैं। छोटे दुकानदार भी सड़क किनारे मीट नहीं बेच सकते। पुलिस और प्रशासन की सख्ती के कारण सभी जगह से मीट बेचने वालों को हटाया गया है।

-टाइम्स न्यूज़ मुरादाबाद.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...