Header Ads

'जिनके पास लाइसेंस है उन्हें किसी तरह के भय की जरुरत नहीं’ - सिद्धार्थनाथ सिंह

मटन और चिकन विक्रेता पहले से ही अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं.

यूपी सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा है कि वैध बूचड़खानों पर कोई कार्रवाई नहीं की जायेगी। उन्होंने साफ कहा है कि जिनके पास लाइसेंस है उन्हें किसी तरह के भय की जरुरत नहीं। सरकार ने चिकन तथा अंडे की दुकानों पर प्रतिबंध का निर्देश नहीं दिया। ऐसी खबरों पर यकीन न किया जाये।

यूपी सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा
पढ़ें : मुरादाबाद के परिवार को बीफ की अनुमति नहीं मिली, लेकिन चिकन परोस सकते हैं

मटन और चिकन विक्रेता पहले से ही अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। उसके बाद मछली कारोबारियों ने भी सरकार के विरोध में हड़ताल शुरु कर दी है। मीट व्यापारियों की हड़ताल से मीट कारोबार प्रभावित हुआ है।

यूपी में योगी आदित्यनाथ की सरकार के बनते ही सबसे बड़ा असर मीट व्यापार पर पड़ा है। अमरोहा जिले में अवैध बूचड़खानों को बंद कराया गया है। अमरोहा में बूचड़खाने को देर रात बंद करा दिया गया। वहीं बछरायूं में एक बूचड़खाने को भी बंद कराया गया है। उसे अवैध बताया जा रहा है।

कुछ होटल स्वामियों ने अवैध बूचड़खाने को बंद किये जाने का स्वागत किया है। उनका कहना है कि यदि मांस की समस्या हुई तो वे दूसरे स्थानों से मीट मंगवायेंगे। वे अपने कारोबार को प्रभावित नहीं होने देंगे।

-टाइम्स न्यूज़.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...