Header Ads

उग्र हिन्दुत्ववाद के समर्थक हैं योगी आदित्यनाथ

हिन्दू युवा वाहिनी संगठन ने हिन्दुत्ववादी नवयवुकों को एकजुट करने का प्रयास किया.

उत्तर प्रदेश की बागडोर पहली बार किसी कट्टरपंथी नेता के हाथ में दी गयी है। लोकसभा और विधानसभा चुनावों में बयानबाजी के लिए चर्चित रहे योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाकर भाजपा ध्रुवीकरण को 2019 के चुनाव तक बरकरार रखना चाहती है। योगी गोरखपुर से लगातार पांच बार सांसद चुने गये हैं। इसी से क्षेत्र में उनकी लोकप्रियता का पता चलता है।

उग्र हिन्दुत्ववाद के समर्थक हैं योगी आदित्यनाथ
योगी आदित्यनाथ ने हिन्दू युवा वाहिनी नामक संगठन की स्थापना कर हिन्दुत्ववादी नवयवुकों को एकजुट करने का प्रयास किया.

योगी आदित्यनाथ पहाड़ी ब्राह्मण हैं तथा गोरखपंथी सम्प्रदाय के अग्रणी संत हैं। उन्होंने हिन्दू युवा वाहिनी नामक संगठन की स्थापना कर हिन्दुत्ववादी नवयवुकों को एकजुट करने का प्रयास किया। इस संगठन के कार्यकर्ता आक्रामक हिन्दुत्व के एजेंडे पर काम करते हैं और यही योगी की ताकत हैं। दरअसल भाजपा को प्रदेश में इसी तरह के नेतृत्व की दरकार थी। इसी से पार्टी को 2019 का चुनाव जीतने की उम्मीद है।

यह समय ही बतायेगा कि एक सन्यासी सबसे बड़े प्रदेश को किस दिशा में ले जायेगा।

जरुर पढ़ें >>

26 साल की आयु में 1998 में वे पहली बार लोकसभा पहुंचे थे


-टाइम्स न्यूज.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...