Header Ads

सांसद से खफा लोगों ने उनका पुतला फूंका

यह वादा कर वोट हासिल कर लिए कि सांसद बनते ही वे गांव को बिजली दिलवायेंगे.

विधानसभा क्षेत्र के गांव इकौना में डेढ़ दशक से खड़े विद्युत खम्भों में बिजली न जोड़ने से खफा गांव वालों ने सांसद कंवर सिंह तंवर का पुतला फूंक कर विरोध प्रकट किया। बिजली की मांग को लेकर कई दिनों से गांव के एक स्कूल में धरने पर बैठे हैं।

सांसद कंवर सिंह तंवर
सांसद कंवर सिंह तंवर.

धरने पर मौजूद गांव वालों ने बताया कि गांव में बिजली देने के लिए डेढ़ दशक से खम्भे खड़े हैं। इनपर तार तक नहीं खींचे गये जिससे गांव तक बिजली नहीं पहुंची। सांसद कंवर सिंह तंवर ने लोकसभा चुनाव के दौरान गांव वालों से यह वादा कर वोट हासिल कर लिए कि सांसद बनते ही वे गांव को बिजली दिलवायेंगे। गांव वालों का कहना है कि चुनाव जीते तीन साल बीत गये सांसद उनके बार-बार बुलाने पर गांव तक आये भी नहीं।

हारकर लोगों ने 23 अप्रैल से प्राथमिक विद्यालय में धरना शुरु किया है। यह तबतक जारी रहेगा जबतक सांसद यहां आकर गांव में बिजली चालू नहीं कराते। सांसद के खिलाफ गांव वालों में भारी रोष है। इसी कारण उन्होंने 27 अप्रैल को उनका पुतला फूंक कर विरोध जताया था।

इस मौके पर ब्रह्मराज शर्मा, पंकज शर्मा, मोहित कुमार, राहुल कुमार, हरिओम सिंह, लेखराज सिंह, नागेन्द्र सिंह, मायादेवी, शशि, विमला, निर्मला देवी आदि शामिल थे।

'सांसद क्षेत्र में कम आते हैं’
गजरौला। कंवर सिंह तंवर चुनाव जीतने के बाद केवल चन्द लोगों के बीच अपने फार्म हाउस पर आकर चले जाते हैं। आम आदमी से उनका कोई ताल्लुक नहीं। यदि किसी का जरुरत पर उनके पास फोन जाता भी है तो वे अपने किसी सहायक से बात करने को कहकर फोन काट देते हैं। केवल इकौंना ही नहीं बल्कि अधिकांश गांवों के लोगों में सांसद के खिलाफ रोष है। पिछली बार वे मोदी लहर में जीत गये थे लेकिन इस बार लोगों में उनके खिलाफ रोष का खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ेगा। उनका टिकट भी काटा जा सकता है। जिस प्रकार दिल्ली में एमसीडी चुनाव में भाजपा ने सभी सभासदों के टिकट काट दिये थे, वही हश्र तंवर का भी करने की तैयारी शुरु है।

-टाइम्स न्यूज़ हसनपुर.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...