Header Ads

विनोद खन्ना का जाना राजनीतिक, फिल्म व आध्यात्मिक क्षेत्र में क्षति है

दो मिनट का मौन रखकर विनोद खन्ना की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की गयी.

लोकप्रिय फिल्म अभिनेता और सांसद रहे विनोद खन्ना के असामयिक निधन पर जिंदल हॉस्पिटल मेें एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। इस दौरान हॉस्पिटल के प्रबंध निदेशक डा. बीएस जिंदल ने विनोद खन्ना के साथ जुड़ी यादों को साझा किया।

दिलबाग जिंदल के साथ विनोद खन्ना
डॉ. दिलबाग जिंदल के साथ विनोद खन्ना (फाइल फोटो).

डा. जिंदल ने बताया कि विनोद खन्ना बचपन से ही उनके पसंदीदा कलाकार रहे। उनसे पहली मुलाकात ऋषिकेश के वानप्रस्थ आश्रम में आयोजित आर्ट ऑफ़ लिविंग कार्यशाला के समय हुई। उसके बाद अनेक बार विनोद खन्ना से भेंट के अवसर प्राप्त हुए।

डा. जिंदल ने कहा कि विनोद खन्ना बहुत ही मृदुभाषी, सरल स्वभाव व बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। उनके पर्यटन मंत्री रहते अतुल्य भारत सरीखे कार्यक्रमों से भारतीय संस्कृति को विश्व के समक्ष प्रस्तुत किया। वे राजनीतिज्ञ के साथ ही आध्यात्मिक क्षेत्र में काफी रुचि रखते थे। उनके देहांत से राजनीतिक, फिल्म जगत के साथ-साथ आध्यात्मिक क्षेत्र में क्षति हुई है।

जिंदल हॉस्पिटल के चिकित्साधिकारी डा. दिलबाग जिंदल ने बताया कि विश्व आयुर्वेद सम्मेलन, बैंगलोर में विनोद खन्ना से मुलाकात आज भी उन्हें याद है। अपनी संक्षिप्त भेंट में विनोद खन्ना ने आयुर्वेद, योग एवं आध्यात्म में अपने अनुभवों के आधार पर जो चर्चा की, वह आज भी हमारे लिए आर्शीवचन हैं।

श्रद्धांजलि सभा में महीपाल सिंह, कमलेश, सरदार कुलवीर सिंह, दीपिका, डा. मंदीप आर्य, डा. राधा जिंदल, राजीव कुमार, मोहित सिंह, तरुण अग्रवाल आदि ने दो मिनट का मौन रखकर विनोद खन्ना की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की।

-टाइम्स न्यूज़ धनौरा.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...