Header Ads

बगावत करने वाले नेताओं को भाजपा से निकाला गया

पूर्व विधायक बढ़ापुर से टिकट नहीं मिलने पर निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़े थे.

यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी से बगावत करने वाले नेताओं को पार्टी ने बाहर कर दिया है। इनमें पूर्व विधायक डा. इंद्रदेव सिंह को बाहर का रास्ता दिखाया गया है। कहा जा रहा है कि उन्होंने विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी से बगावत की थी। वे फिर से पार्टी में शामिल होने के इच्छुक भी थे।

पूर्व विधायक डा. इंद्रदेव सिंह

इंद्रदेव सिंह के अलावा तीन अन्य नेताओं को भाजपा से बाहर किया गया है। इनमें जिला पंचायत सदस्य राधा सैनी, लीना सिंघल, एसके वर्मा का नाम शामिल है। बिजनौर जिलाध्यक्ष राजीव सिसौदिया ने सभी को भाजपा ने निकाले जाने की पुष्टि की।

पूर्व विधायक इंद्रद्रेव सिंह बढ़ापुर सीट से टिकट नहीं मिलने पर निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़े थे और पराजित हुए थे। जिला पंचायत सदस्य राधा सैनी भी बढ़ापुर से टिकट मांग रही थीं। वे रालोद से चुनाव लड़ीं और हारीं। नजीबाबाद सीट से लीना सिंघल पार्टी सिंबल पर चुनाव लड़ने की दोवदारी ठोक रही थीं। वे भी रालोद से मैदान में आयीं तथा पराजित हुईं। बिजनौर सीट से पूर्व आइएएस एसके वर्मा टिकट की मांग कर रहे थे। उनकी जगह सुचि चौधरी को टिकट मिला था। सुचि विजेता बनीं लेकिन वर्मा नाराज होकर रालोद के टिकट से चांदपुर सीट से चुनाव लड़े और पराजित हुए थे।

बगावत करने वाले नेताओं की सूची जिलाध्यक्ष राजीव सिसौदिया ने हाईकमान को सौंप दी थी। अब जाकर पार्टी ने इन चारों नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की है। वैसे भाजपा ने उत्तर प्रदेश से कई नेताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया है।

-टाइम्स न्यूज़ बिजनौर.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...