Header Ads

'नामजद रिपोर्ट दर्ज कराने के बावजूद पुलिस कोई भी कार्रवाई नहीं कर रही'

22 मार्च को लक्ष्मी की संदिग्ध मौत हो गयी थी. 25 मार्च को नामज़द रिपोर्ट दर्ज की गई थी.

थाना बछरायूं के ग्राम मायापुरी अबनासरपुर निवासी कर्मवीर सिंह पुत्र धर्मवीर सिंह का कहना है कि दहेज उत्पीड़न में उसकी बहन की हत्या करने वाले उसके ससुराल वाले उसपर समझौते का दवाब बनाने को लगातार धमकियां दिलवा रहे हैं जबकि 25 मार्च को हत्यारों के खिलाफ मेरठ जिले के हस्तिनापुर थाने में नामजद रिपोर्ट दर्ज कराने के बावजूद पुलिस कोई भी कार्रवाई नहीं कर रही।

कर्मवीर की बहन लक्ष्मी

उल्लेखनीय है कि कर्मवीर की बहन लक्ष्मी की शादी चार वर्ष पूर्व मेरठ जिले के हस्तिनापुर थानांतर्गत गांव किशोरपुर निवासी रविन्द्र पुत्र चरण सिंह के साथ हुई थी। कर्मवीर के अनुसार उसके माता-पिता मर चुके थे इसलिए उसके मामा खचेड़ू ने ही लक्ष्मी की शादी की तमाम रस्म अदा की थीं। निर्धन कर्मवीर कोई दहेज नहीं दे सका।

कर्मवीर का आरोप है कि शादी के बाद उसकी बहन पर दहेज के लिए ससुराल वाले दवाब बनाने को उसे यातना देने लगे। कई बार सुलह के बाद भी लक्ष्मी का उत्पीड़न बंद नहीं हुआ।

कर्मवीर के मुताबिक 22 मार्च को लक्ष्मी के जेठ ने फोन पर बताया कि उसकी बहन बहुत बीमार है जिसे मेरठ हास्पिटल में दाखिल कराया है। इसपर कर्मवीर उसका छोटा भाई तुलाराम तथा बहन चंचल गांव पहुंचे तो पता चला लक्ष्मी को ससुरालियों ने जलाकर मार डाला है।

कर्मवीर का आरोप है कि अंतिम संस्कार के बाद उन्हें डरा-धमकाकर भगा दिया। बाद में लोगों से विचार विमर्श कर उन्होंने 25 मार्च को सारी घटना सिलसिलेवार मेरठ के ततकालीन एसएसपी को बतायी। उसी दिन थाना हस्तिनापुर में दहेज एक्ट की संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ। जिसमें लक्ष्मी के पति रविन्द्र, जेठ सतेन्द्र, रघुवीर व नवाब और जेठानी उर्मिला, ललिता व आदेश के नाम शामिल हैं।

कर्मवीर का कहना है कि रिपोर्ट दर्ज हुए दो माह होने वाले हैं लेकिन अभी तक दोषियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई उल्टे उनपर वर पक्ष की ओर से समझौता करने का दवाब बनाया जा रहा है। कर्मवीर ने पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से दोषियों के खिलाफ शीघ्र कार्रवाई की मांग की है।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...