Header Ads

युवा क्षेत्र से प्रदूषण का खात्मा चाहते हैं

प्रदूषण मुक्ति की मुहिम में क्षेत्र के युवाओं में खासी प्रसन्नता और उत्साह का माहौल है.

गजरौला में युवाओं द्वारा प्रदूषण फैलाने वाले उद्योगों का विरोध जारी है। युवाओं का कहना है कि वे गजरौला को प्रदूषण मुक्त कराकर ही दम लेंगे। यहां एनजीटी के आदेश के बाद 13 इकाइयां बंद कर दी गयी हैं। उसके बाद से प्रदूषण मुक्ति की मुहिम में क्षेत्र के युवाओं में खासी प्रसन्नता और उत्साह का माहौल है। इस सिलसिले में उन्होंने रमाबाई अंबेडकर डिग्री कालेज के सामने विरोध-प्रदर्शन किया और उद्योगों के खिलाफ नारेबाजी भी की।

युवा क्षेत्र से प्रदूषण का खात्मा चाहते हैं
जरुर पढ़ें : 'हम आखिरी दम तक प्रदूषण के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखेंगे'

स्वर्णजीत सिंह सोरन ने कहा कि युवा चाहते हैं कि क्षेत्र से प्रदूषण का खात्मा हो। हवा, पानी और जमीन जहरीली हो गयी है। इसके लिए जिम्मेदार उद्योगों को पूरी तरह बंद कर दिया जाना चाहिए।

gajraula-pollution-industries

मनीष त्यागी का कहना था कि प्रदूषण की समस्या बेहद गंभीर है। यह हर तरफ फैला हुआ है। इसका दायरा इतना व्यापक है कि कई किलोमीटर तक यहां के उद्योगों के प्रदूषण का असर देखा जा सकता है। एनजीटी ने सराहनीय कार्य किया है। मनीष जैसे युवाओं ने भी प्रदूषण के खिलाफ मुहिम में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया है।

pollution-in-gajraula

इस दौरान नलिन सिंह, अनुज भाटी, राकेश, राजेन्द्र, विनय, प्रशांत, राहुल, नवजोत सिंह, विराज, सचिन, तुषार, विवेक, पीयुष, सतीश, अंकित, मनदीप आदि मौजूद रहे।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...