Header Ads

..जब लगे 'योगी वापस जाओ-योगी वापस जाओ’ के नारे

दलित समाज के लोगों का कहना था कि उत्तर प्रदेश में दलितों पर अत्याचार हो रहे हैं.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को मुरादाबाद में भारी विरोध का सामना करना पड़ा। लोगों की भीड़ ने उन्हें काले झंडे भी दिखाये। सैकड़ों की संख्या में सर्किट हाउस के बाहर नाराज लोगों ने 'योगी वापस जाओ - वापस जाओ’ के नारे लगाये। इस दौरान पुलिस की बेबसी भी देखने को मिली। उस समय योगी सर्किट हाउस में अफसरों के साथ मीटिंग में व्यस्त थे।

योगी वापस जाओ-योगी वापस जाओ

योगी से मिलने को लोग बेकाबू हो गये और उन्होंने आपा खो दिया। गेट पर मौजूद पुलिसवालों की भी उन्होंने एक नहीं सुनी। वे आगे बढ़े और भीतर दाखिल होने पर हंगामा करने लगे। खबर है कि उन्होंने मेटल डिटेक्टर गेट को भी क्षतिग्रस्त कर दिया था।

वहीं दलित समाज के लोगों ने योगी आदित्यनाथ का जमकर विरोध किया। उन्होंने योगी वापस जाओ के नारे लगाये और काले झंडे भी दिखाये। दलित समाज के लोगों का कहना था कि प्रदेश में दलितों पर अत्याचार हो रहे हैं। सरकार दलित उत्पीड़न पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

पिछले दिनों दलित समाज के 50 से अधिक लोगों ने हिन्दू धर्म त्यागने की बात कही थी। उन्होंने अपने घरों में रखी देवी-देवताओं की मूर्तियों को भी रामगंगा में बहा दिया था। उनका आरोप था कि भाजपाई दलितों का उत्पीड़न कर रहे हैं। हालांकि बाद में लोगों को मना लिया गया था।

क्लिक कर पढ़ें : मुरादाबाद में योगी बोले -'यहां केवल कानून का राज चलेगा’ 

-टाइम्स न्यूज़ मुरादाबाद.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...