Header Ads

फिरौती देने के बाद भी फाइलें खुल नहीं पायेंगी!

विशेषज्ञ कह रहे हैं कि जो फाइलें आप कम्प्यूटर में स्टोर कर रहे हैं उनका बैकअप भी रखें.

दुनिया में वानाक्राइ रैनसमवेयर ने खलबली मचा रखी है। इसकी चपेट में 150 देशों लाखों कम्प्यूटर आये हैं। यह साइबर हमला बहुत खतरनाक माना जा रहा है। भारत में भी इसका असर देखा जा रहा है। रैनसमवेयर के जरिये लॉक हो चुकी फाइलों को अनलॉक करने के लिए तीन सौ डॉलर की रकम मांगी जा रही है। यह एक तरह की फिरौती है।

फिरौती देने के बाद भी फाइलें खुल नहीं पायेंगी!

विंडोज को अपडेट करने की सलाह दी जा रही है। दुनियाभर में इसपर बेहद तेजी से सुरक्षा विशेषज्ञ लगे हुए हैं ताकि आगे होने वाले इससे भी गंभीर खतरे को रोका जा सके। एक बुरी बात यह भी चर्चा में है कि फिरौती देने के बाद भी आपकी फाइलें शायद ही आपको वापस मिल सकें। इसलिए यह गंभीर समस्या बनकर उभर रही है।

ब्रिटेन में अस्पतालों में वानाक्राइ रैनसमवेयर की वजह से मरीजों को दिक्कतें आ रही हैं। खबर है कि अस्पतालों में मरीजों का अधिकतर डाटा ऑनलाइन है, वह एक्सेस नहीं हो रहा। लेकिन घरेलू कम्प्यूटरों पर इसका अभी कोई असर नहीं देखा गया है या कम हो सकता है।

विशेषज्ञ कह रहे हैं कि जो फाइलें आप कम्प्यूटर में स्टोर कर रहे हैं उनका बैकअप भी रखें। रैनसमवेयर के जरिये इनक्रिप्ट की गयी फाइलों को डिक्रिप्ट करना मुश्किल है या नामुमकिन है।

अभी उन लोगों से संपर्क करने की कोशिश की जा रही है जो इसके पीछे हैं। हालांकि अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है। मगर उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द कुछ परिणाम निकल सकते हैं। इससे एक बात तय हो गयी है कि साइबर हमले भविष्य में पूरी व्यवस्था को ठप्प कर सकते हैं जो बेहद चिंतजनक है।

-टाइम्स न्यूज़.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...