स्वार-टांडा से विधायक अब्दुल्ला के पिता पूर्व मंत्री आजम खां ने कहा है कि यह विरोधियों की साजिश है.

विधायक अब्दुल्ला आजम खां को हाइकोर्ट ने नोटिस दिया है। पूर्व विधायक नवाब काजिम अली खां उर्फ नवेद मियां ने हाइकोर्ट में एक रिट दायर की थी जिसमें अब्दुल्ला की उम्र पर सवाल उठाया गया था। अब्दुल्ला आजम खां स्वार-टांडा से विधायक हैं। अब कोर्ट में इस मामले की अगली सुनवाई 18 अगस्त मुकर्रर हुई है।

abdulla_azam_naved_miyan

कोर्ट में नवेद मियां ने कहा था कि अब्दुल्ला आजम खां की हाइस्कूल की मार्कशीट में जन्मतिथि 1.1.1993 है। उन्होंने नामांकन 24.1.2017 में किया जिसके मुताबिक उनकी उम्र 25 साल से कम है। मगर अब्दुल्ला आजम ने उस समय अपनी उम्र 26 साल दर्ज करायी है। नवेद मियां ने कहा है कि अब्दुल्ला आजम ने फर्जी दस्तावेजों के बल पर यह किया है।

अब्दुल्ला आजम खां ने नामांकन के समय सीबीएसई की मार्कशीट के अनुसार उम्र दर्ज करायी है। उनकी उम्र का विवाद तूल पकड़ता जा रहा है।

उधर अब्दुल्ला के पिता पूर्व मंत्री आजम खां ने कहा है कि यह विरोधियों की साजिश है। जबकि नवेद मियां ने साक्ष्य कोर्ट में रखे हैं और वे कह रहे हैं कि आजम के बेटे ने फर्जीवाड़ा किया है। कोर्ट ने सुनवाई को तेजी से करने को कहा है। मामले की अगली सुनवाई 18 अगस्त को होगी।

-टाइम्स न्यूज़ रामपुर.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...