Header Ads

रेनू चौधरी की उल्टी गिनती शुरु : सरिता चौधरी के साथ आधे से अधिक सदस्य

रेनू चौधरी तथा चन्द्रपाल सिंह की ओर से खामोशी अख्त्यार करने से ज़ाहिर है कि रेनू बहुमत खो चुकी हैं.
renu_sarita_zila_panchayat
रेनू चौधरी (जिला पंचायत अध्यक्ष अमरोहा) और सरिता चौधरी (जिला पंचायत सदस्य).
जिला पंचायत अध्यक्ष रेनू चौधरी की कुर्सी पर खतरे के बादल घुमड़ रहे हैं। सावन के महीने का आगाज उनके लिए खतरे की घंटी है। भाजपा द्वारा उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव की व्यूह रचना हो गयी है। भाजपा नेता तथा जिला पंचायत सदस्य सरिता चौधरी के पति चौ. भूपेन्द्र सिंह का दावा है कि उनके खेमे में जरुरत से भी अधिक सदस्य आ गये हैं तथा वे बहुत ही जल्दी रेनू के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले हैं। उधर रेनू चौधरी तथा उनके ससुर पूर्व मंत्री चन्द्रपाल सिंह की ओर से खामोशी अख्त्यार करने से ज़ाहिर है कि रेनू बहुमत खो चुकी हैं तथा वे कभी भी कुर्सी से धड़ाम हो सकती हैं।

chanderpal_singh_bhpendra_singh
चौ. चंद्रपाल सिंह और चौ. भूपेन्द्र सिंह.
उल्लेखनीय है कि सपा की आपसी गुटबंदी में रेनू चौधरी बसपा और भाजपा समर्थक जिला पंचायत सदस्यों के सहयोग से अध्यक्ष बनी थीं। इस समय उनके खिलाफ अविश्वासमत लाने वाली जिला पंचायत सदस्य सरिता चौधरी भी रेनू के साथ थीं।

जरुर पढ़ें : अमरोहा में जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुखों की कुर्सियां खतरे में

प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के साथ ही जिला पंचायत अध्यक्षों तथा ब्लॉक प्रमुखों के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव की सुगबुगाहट तेज हो गयी। इसी सिलसिले में यहां भी ऐसा होना स्वाभाविक था। आगामी सप्ताह रेनू चौधरी के लिए कैसा रहेगा यह जल्दी ही पता चल जायेगा।

साथ में पढ़ें : सपा में रस्सी खींच थी, लेकिन रेनू जिला पंचायत अध्यक्ष बन गयीं

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...