साथ ही वामसेफ के जिला संयोजक पृथी सिंह और नगर अध्यक्ष चन्द्रपाल सिंह को बाहर निकाल दिया गया है.

बसपा ने पार्टी उम्मीदवार के खिलाफ मैदान में उतर जाने के कारण जिला कोषाध्यक्ष और गजरौला के पूर्व चेयरमैन रोहताश शर्मा को 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है। उनके साथ ही वामसेफ के जिला संयोजक पृथी सिंह और बसपा के नगर अध्यक्ष चन्द्रपाल सिंह को बसपा से बाहर निकाल दिया गया है। अभी कई पदाधिकारियों व नेताओं पर भी बसपा हाइकमान की गाज गिर सकती है।

rohtash-sharma-nikay-election-2017

पूर्व चेयरमैन रोहताश कुमार शर्मा अध्यक्ष पद के निर्दलीय प्रत्याशी के रुप में गजरौला नगर पालिका से चुनाव लड़ रहे हैं। रोहताश पर आरोप है वे पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल रहे हैं। उन्हें इस संबंध में चेतावनी भी दी गयी थी। अनुशासनहीनता की वजह से उन्हें बसपा से छह साल के लिए निष्कासित किया गया है।

बसपा ने गजरौला से जाफर मलिक को अपना उम्मीदवार घोषित किया है। रोहताश शर्मा भी नगर पालिका अध्यक्ष का चुनाव लड़ना चाह रहे थे। पार्टी से जाफर का टिकट पक्का होने के बाद भी रोहताश पीछे नहीं हटे। वे अपना प्रचार जारी रखे हुए थे। आखिर में उन्हें पार्टी ने बाहर निकाल दिया। अब रोहताश शर्मा निर्दलीय प्रत्याशी के रुप में मैदान में हैं। उन्हें विश्वास है कि जनता फिर से उनपर भरोसा करेगी।

माना जा रहा है कि बसपा से अभी कुछ ओर नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाया जायेगा। पार्टी चुनाव में किसी तरह का कोई खतरा मोल नहीं लेना चाहती।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...