Header Ads

नए शेड्यूल से गजरौला में बिजली आपूर्ति बाधित

कार्यभार ग्रहण करते ही अंशु नागपाल की ओर से नगर को 18 घंटे विद्युत आपूर्ति कराने की घोषणा की गई थी.

नगर में 16 की जगह 18 घंटे विद्युत आपूर्ति शेडूल ध्वस्त हो गया है। नए शेड्यूल के बाद से बिजली कम मिल रही है तथा यह भी नहीं पता चलता कि वह कब आएगी और कब चली जाएगी? 24 घंटों में 12 घंटे का औसत भी नहीं है। जबकि रात और दिन में 9,9 कुल मिलाकर 18 घंटे आपूर्ति की घोषणा की गई थी।

electricity-power-house-in-gajraula

पालिका अध्यक्ष का कार्यभार ग्रहण करते ही अंशु नागपाल की ओर से नगर को 18 घंटे विद्युत आपूर्ति कराने की घोषणा की गई थी। पूर्व सांसद देवेंद्र नागपाल ने लखनऊ भाग दौड़ कर वहां से यह  आदेश भी कराया था। बिजली वास्तव में 16 के बजाय 18 घंटे मिलनी शुरू भी हो गई थी। जिनसे उसमें अघोषित कटौती कर उसे पहले से भी कम कर दिया गया। पहले निर्बाध रुप से बिजली आपूर्ति चलती थी जबकि अब उसे बार-बार बाधित कर रोका जा रहा है।

ठंड की अंधेरी रातों में इससे लोग परेशान हैं। उनका कहना है कि बिजली वालों से लगातार आपूर्ति को कहा जाए। उन्हें बाधित 18 घंटों से निर्बाध 16 घंटे बिजली ही ठीक है। पुराने शेड्यूल में पूरी रात बिजली रहती थी। रात में प्रकाश व्यवस्था सुरक्षा की दृष्टि से भी जरूरी है।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...