Header Ads

आगामी संसदीय चुनाव में बाहरी उम्मीदवार के खिलाफ हैं अमरोहा के भाजपा कार्यकर्ता

भाजपा द्वारा तेजी से की जा रही चुनावी तैयारियों से भी संसदीय चुनाव समय पूर्व होने के संकेत मिल रहे हैं.

लोकसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी से टिकट के लिए कई लोगों ने प्रयास शुरू कर दिए हैं लेकिन जिले के भाजपा कार्यकर्ताओं का कहना है कि इस बार बाहरी व्यक्ति के बजाय किसी स्थानीय नेता को उम्मीदवार बनाना चाहिए। मौजूदा सांसद कंवर सिंह तँवर से पार्टी के ज्यादातर कार्यकर्ता खुश नहीं हैं। इसका मूल कारण भी यही है कि उन्होंने क्षेत्रीय जनता के बजाय अपने कारोबार के लिए पद का उपयोग किया। पिछली बार भले ही वे मोदी लहर पर सवार होकर जीतने में सफल रहे लेकिन इस बार उनके लिए यह आसान नहीं है। कार्यकर्ता चाहते हैं कोई स्थानीय जिताऊ उम्मीदवार मैदान में लाया जाए।

devendra-nagpal-kanwar-tanwar-tarun-rathi
देवेन्द्र नागपाल (पूर्व सांसद), कँवर सिंह तंवर (सांसद अमरोहा), तरुण राठी (भाजपा नेता).

मौजूदा सांसद तँवर जहां फिर से उम्मीदवारी की कोशिश में हैं वहीं पूर्व सांसद देवेंद्र नागपाल, कविता सिंह और तरूण राठी सहित कई नेता यहां से भाजपा उम्मीदवारी के प्रयास में हैं। उधर भाजपा हाईकमान उत्तर प्रदेश में बहुत ही सोच समझ कर उम्मीदवार मैदान में लाएगी। जिसमें जातिगत समीकरणों पर खासा जोर रहेगा।

जरुर पढ़ें : रेनू का तख्ता पलट के लिए भूपेन्द्र की मजबूत रणनीति

पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली, जम्मू और कश्मीर, मध्य प्रदेश तथा बिहार जैसे राज्यों में 2014 के मुकाबले भाजपा  कमजोर दिखाई दे रही है तथा पीएनबी स्कैम आदि से देश के बिगड़ते आर्थिक हालातों के कारण यह चुनाव इसी साल भी हो सकते हैं। भाजपा द्वारा तेजी से की जा रही चुनावी तैयारियों से भी संसदीय चुनाव समय पूर्व होने के संकेत मिल रहे हैं। ऐसे में टिकटार्थी भी अपनी-अपनी गोटियां बिठाने में जुट गए हैं। यह तो भाजपा हाईकमान ही तय करेगा कि यहां से उम्मीदवार कौन हो लेकिन इस बार कार्यकर्ता स्थानीय उम्मीदवार के पक्ष में हैं।

पढ़ें : हाजी शब्बन ने थामा कांग्रेस का हाथ

पूर्व जिला पंचायत सदस्य चौधरी वीरेंद्र सिंह, सामाजिक कार्यकर्ता नवीन कुमार गर्ग, डॉ एल सी गहलौत, पूर्व सभासद अनिल अग्रवाल और पूर्व नगर मंडल अध्यक्ष राम कृष्ण चौहान का कहना है कि बाहरी व्यक्ति थोपने से लंबे समय से पार्टी के लिए काम करने वाले कार्य कार्यकर्ता जहां निराश होते हैं वहीं बाहरी व्यक्ति जीतने के बाद दिखाई नहीं देते। इसका खामियाजा स्थानीय जनता और पार्टी दोनों को ही भुगतना पड़ता है।

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...