एएसपी फैक्ट्री के कामगार वर्षों से अपने कानूनी हकों के लिए आंदोलन कर रहे हैं

प्रबंधन के शोषण के शिकार कामगारों ने हार थक कर कैबिनेट मंत्री से समस्याओं के निदान की मांग की है.

एएसपी प्रबंधन के शोषण के शिकार कामगारों ने हार थक कर कैबिनेट मंत्री से समस्याओं के निदान की मांग की है। कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान ने फोन पर बात कर प्रबंधकों से समाधान के लिए कहा। कामगार उनकी कोरल न्यूज़ प्रिंट पेपर मिल में चौहान से मिले थे। उन्होंने मंत्री से यह भी शिकायत की कि कई महिला कामगारों को प्रबंधक रात में जबरन बुलाते हैं।

chetan-chauhan-asp-factory

उल्लेखनीय है कि एएसपी फैक्ट्री के कामगार वर्षों से अपने कानूनी हकों, जिनमें न्यूनतम वेतन जैसी कई मांगे हैं - के लिए आंदोलन कर रहे हैं। वे कई बार इस सिलसिले में धरने, प्रदर्शन और शांतिपूर्ण विरोध जैसे अहिंसक रास्तों से न्याय के लिए संघर्ष कर रहे हैं। लेकिन प्रबंधक उनकी समस्याओं के निदान के बजाय कामगारों को बाहर का रास्ता दिखाने की धमकी देकर उनका मुंह बंद कराना चाहते हैं।

कामगारों का कहना है कि एक बार समझौते के लिए थाने में ले जाया गया लेकिन वहां भी बात नहीं बनी। दरअसल प्रबंधक उन्हें पुलिस का भय दिखाकर दबाना चाहते थे। कामगारों का कहना है कि वे सभी शांतिपूर्ण तरीकों को आजमाना चाहते हैं तथा शांति पूर्ण हल के पक्ष में हैं। इसी कड़ी में उन्होंने बात कैबिनेट मंत्री के सामने रखी। उन्हें उम्मीद है कि उनकी समस्या का समाधान निकलेगा।

एक फर्जी कंपनी द्वारा ठगे लोगों का एक समूह भी चेतन चौहान से मिला। उनका कहना था कि उनके करोड़ों रुपए जमा करके एक कंपनी दफ्तर बंद कर शहर से भाग गई। पुलिस उसके खिलाफ कार्यवाही नहीं कर रही। रिपोर्ट तक लिखने को तैयार नहीं। इस पर मंत्री ने कोई ठोस आश्वासन नहीं दिया।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.



Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...